विदेशी निवेशकों ने अगस्त में खरीदा 14 हजार करोड़ का शेयर 

मुंबई- भारतीय सूचकांक में नरमी के बीच विदेशी निवेशकों ने भारतीय इक्विटी पर अपना सकारात्मक रुख जारी रखा है। उन्होंने अगस्त के पहले हफ्ते में 14,000 करोड़ रुपये से अधिक का निवेश किया है। इससे पहले जुलाई में भी विदेशी निवेशक शुद्ध खरीदार थे।  

डिपॉजिटरी के आंकड़ों के मुताबिक, विदेशी पोर्टफोलियो निवेशकों (FPI) ने जुलाई में लगभग 5,000 करोड़ रुपये का शुद्ध निवेश किया है. इस तरह अप्रैल के पहले हफ्ते में एफपीआई का कुल निवेश जुलाई महीने के पूरे निवेश से ज्यादा रहा है। 

एफपीआई ने लगातार नौ महीनों तक भारी शुद्ध निकासी के बाद जुलाई में शुद्ध खरीदारी की. इससे पहले वे पिछले साल अक्टूबर से लगातार शुद्ध बिकवाली कर रहे थे. अक्टूबर 2021 और जून 2022 के बीच उन्होंने भारतीय इक्विटी बाजारों में 2.46 लाख करोड़ रुपये की भारी बिक्री की। 

यस सिक्योरिटीज के संस्थागत इक्विटी के प्रमुख विश्लेषक हितेश जैन ने कहा कि अगस्त के दौरान एफपीआई प्रवाह सकारात्मक रहने की उम्मीद है, क्योंकि रुपये के लिए सबसे खराब स्थिति खत्म हो गई है और कच्चा तेल भी एक सीमित दायरे में है। एफपीआई रणनीति में बदलाव के चलते बाजार में हाल में जोरदार तेजी देखने को मिली है। 

सेंसेक्स की टॉप 10 में से आठ कंपनियों के बाजार पूंजीकरण (मार्केट कैप) में बीते हफ्ते सामूहिक रूप से 1,91,622.95 करोड़ रुपये की बढ़ोतरी हुई है। सबसे ज्यादा फायदे में बजाज फाइनेंस और टाटा कंसल्टेंसी सर्विसेज (TCS) रहीं हैं। बीते हफ्ते बीएसई का 30 शेयरों वाला सेंसेक्स 1,498.02 अंक या 2.67 फीसदी के लाभ में रहा है। 

Leave a Reply

Your email address will not be published.