जनवरी तक एक फीसदी और महंगा होगा कर्ज, जमा पर भी बढ़ेगा ब्याज  

मुंबई। विश्लेषकों का कहना है कि जनवरी तक ब्याज दर में एक फीसदी और बढ़त हो सकती है। खाद्य पदार्थों और ईंधन की कीमतों में तेजी से ऐसा होगा। एचडीएफसी बैंक की प्रधान अर्थशास्त्री साक्षी गुप्ता ने कहा, आरबीआई रेपो दर को 5.75 फीसदी तक बढ़ा सकता है। 

आरबीआई गवर्नर ने कहा 50 बीपीएस का इजाफा अब एक नया स्तर बन चुका है। दुनिया भर के केंद्रीय बैंक 75 से 100 बीपीएस (बेसिस प्वाइंट) की बढ़ोतरी कर रहे हैं। ऐसी धारणा है कि 75 से 100 बीपीएस की दर 50 बीपीएस से आगे जा सकती है। हालंकि आरबीआई के नजरिए से विकास के पहलू और शहरी एवं ग्रामीण ग्राहकों की मांग पर यह निर्भर है। 

देश में कर्ज की मांग इस समय तीन साल के शीर्ष पर है। साथ ही बैंकों के कर्ज महंगे हो रहे हैं। इससे अब जमा पर भी ज्यादा ब्याज मिल सकता है। जमा पर मिल रहे कम ब्याज के कारण जमाकर्ता अब दूसरे साधनों में निवेश कर रहे हैँ। ऐसे में आने वाले समय में बैंक ग्राहकों को आकर्षित करने के लिए ब्याज दरें बढ़ा सकते हैं। बैंक ऑफ बड़ौदा के मुख्य अर्थशास्त्री मदन सबनवीस कहते हैं कि बैंक के जमाधारक अब म्यूचुअल फंड और शेयर बाजार में जा रहे हैं। ऐसे में इनको खींचने के लिए ज्यादा ब्याज देना होगा। 

उधर, दूसरी ओर अगर आपको गलत क्रेडिट स्कोर के कारण कर्ज नहीं मिल रहा है। इसकी शिकायत क्रेडिट स्कोर ब्यूरो भी नहीं सुन रहा है। तब आप रिजर्व बैंक की मदद ले सकते हैं। आरबीआई जल्द ही क्रेडिट स्कोर ब्यूरो के खिलाफ शिकायतों के लिए निगराना वाली शिकायत निवारण तंत्र शुरू करेगा। आरबीआई ने घोषणा की है कि क्रेडिट सूचना कंपनियों जैसे सिबिल, इक्विफैक्स आदि की समस्या सीधे उसके पास हो सकती है। किसी भी शिकायत को इन कंपनियों को 30 दिन के अंदर सुलझाना होगा। 

Leave a Reply

Your email address will not be published.