फिर से घट सकती हैं खाने के तेल की कीमतें, सरकार कर रही है समीक्षा 

नई दिल्ली। एक बार फिर से खाने के तेल की कीमतें घट सकती हैं। सरकार ने इस संबंध में कंपनियों से विचार करने को कहा है। खाद्य सचिव ने बृहस्पतिवार को तेल कंपनियों के साथ बैठक की थी। इसमें हर लीटर पर कम से कम 10 रुपये कीमत घटाने की बात कही गई है। इससे लोगों को राहत मिलेगी।  

हालांकि हाल में तेलों की कीमतें 30 रुपये लीटर तक घटी थीं। सरकार अगर खाद्य तेलों का दाम घटाने में सफल रहती है तो त्योहारी सीजन में भी इसका फायदा लोगों को मिलेगा। हाल में संसद में भी सरकार को महंगाई पर जवाब देना पड़ा है। 

पामतेल को छोड़ दें तो खाने वाले तेल की कीमतें अभी भी 150 रुपये से ऊपर ही बनी हुई हैं। उपभोक्ता मंत्रालय के आंकड़ों के मुताबिक, मूंगफली तेल का भाव अभी 187.55 रुपये लीटर है। एक महीने पहले भी यह 187.88 रुपये लीटर था। सरसों का तेल 173.9 रुपये लीटर है जो एक महीने पहले 178.32 रुपये था। वनस्पति तेल का भाव अभी 155.2 रुपये है। एक महीने पहले 163 रुपये था। 

सोया तेल की कीमत एक महीने में 10 रुपये घटी है। यह 165.5 रुपये से घटकर 157.84 रुपये लीटर पर आ गया है। सूरजमुखी तेल का भाव इसी दौरान 186 से घटकर 171 रुपये लीटर पर आ गया है। भारत अपनी खपत का 60 फीसदी हिस्सा विदेशों से आयात करता है। इस समय विदेशी बाजारों में तेल की कीमतें सस्ती हैं। ऐसे में भारत में भी इसे घटाने की कवायद हो रही है।   

Leave a Reply

Your email address will not be published.