वोडाफोन आइडिया को 7,296 करोड़ रुपये का हुआ भारी घाटा 

मुंबई- वोडाफोन आइडिया ने अप्रैल-जून तिमाही में 7,296.7 करोड़ रुपए का घाटा दर्ज किया। पिछले साल की समान तिमाही में घाटा 7,318.6 करोड़ रुपए था। यानी इस तिमाही में घाटा मामूली रूप से कम हुआ है। हालांकि पिछली तिमाही (Q4FY22) की तुलना में घाटा बढ़ा है। पिछली तिमाही में घाटा 6,563.1 करोड़ रुपए था। 

वोडाफोन आइडिया का तिमाही राजस्व 10,410 करोड़ रुपए रहा, जो 13.7% की सालाना बढ़ोतरी है। जून तिमाही के अंत में कंपनी पर कुल कर्ज (टोटल ग्रॉस डेट) 1,990.8 अरब रुपए था। इसमें स्पेक्ट्रम पेमेंट के 1166 अरब रुपए, AGR के 672.7 अरब रुपए और बैंक का कर्ज 152 अरब रुपए का है। तिमाही के लिए वोडाफोन आइडिया का ARPU यानी हर ग्राहक से कमाई 23.4% बढ़कर 128 रुपए हो गई, जो टैरिफ बढ़ोतरी के कारण हुआ है। 

वोडाफोन आइडिया ने कहा कि 30 जून 2022 तक उसके 24.04 करोड़ ग्राहक थे। इससे पहले की तिमाही में कंपनी के 24.38 करोड़ सब्सक्राइबर्स थे। यानी इस तिमाही में सब्सक्राइबर्स की संख्या में कुछ गिरावट आई है। हालांकि कंपनी का 4G कस्टमर बेस बढ़ रहा है। टेल्को ने Q1 में 10 लाख ग्राहक जोड़े। इसके साथ ही उसका कस्टमर बेस 119.0 अरब हो गया है। टोटल डेटा ट्राफिक 3.6% बढ़ा है। 

वोडाफोन आइडिया ने आंध्र प्रदेश, कर्नाटक और पंजाब के 3 सर्कलों में एडिशनल 4G स्पेक्ट्रम हासिल किया है। इस नीलामी में हासिल किए गए स्पेक्ट्रम के लिए कंपनी को 1,680 करोड़ रुपए की वार्षिक किस्त के साथ 18,800 करोड़ रुपए चुकाने होंगे। कंपनी ने कहा कि अब हमारे पास हमारे सभी प्राथमिकता वाले सर्कल में सभी बैंड में स्पेक्ट्रम का एक ठोस पोर्टफोलियो है। 

Leave a Reply

Your email address will not be published.