जीएसटी संग्रह जुलाई में 1.49 लाख करोड़, दूसरी बार सबसे ज्यादा 

मुंबई- लगातार बढ़ रही महंगाई और अन्य चुनौतियों के बीच जुलाई, 2022 कई मोर्चों पर राहत वाला महीना रहा। इस दौरान न सिर्फ जीएसटी वसूली में तेजी आई बल्कि वाणिज्यिक सिलिंडर और विमान ईंधन के दाम भी घट गए।  

दरअसल, आर्थिक सुधार और कर चोरी रोकने के लिए किए गए उपायों से इस साल जुलाई में जीएसटी संग्रह सालाना आधार पर 28 फीसदी बढ़कर 1.49 लाख करोड़ रुपये पहुंच गया। 2017 में जीएसटी लागू होने के बाद से यह दूसरी सबसे बड़ी वसूली है। इससे पहले अप्रैल, 2022 में संग्रह सबसे ज्यादा 1.68 लाख करोड़ रुपये रहा था। जारी आंकड़ों के मुताबिक, पिछले साल जुलाई में सरकार को जीएसटी के रूप में 1,16,393 रुपये की कमाई हुई थी। 

वित्त मंत्रालय ने कहा कि जीएसटी चोरी को रोकने के लिए सरकार बीते कुछ महीने से काफी उपाय कर रही है। साथ ही इस क्षेत्र में कई आर्थिक सुधार भी हुए हैं। इसका असर दिखा और जुलाई, 2022 में जीएसटी संग्रह 1,48,995 करोड़ रुपये पहुंच गया। जीएसटी लागू होने के बाद से यह छठी बार है, जब मासिक संग्रह 1.40 लाख करोड़ रुपये ज्यादा रहा।  

आंकड़ों के मुताबिक, जुलाई में वस्तुओं के आयात से मिलने वाले राजस्व में 48 फीसदी की बढ़ोतरी हुई। घरेलू लेनदेन (सेवाओं के आयात सहित) से होने वाली कमाई पिछले साल जुलाई से 22 फीसदी बढ़ी है। जून, 2022 में 7.45 करोड़ ई-वे बिल सृजित किए गए। यह मई, 2022 के 7.36 करोड़ के मुकाबले मामूली अधिक हैं। चालू वित्त वर्ष में जुलाई तक जीएसटी संग्रह पिछले साल की समान अवधि के मुकाबले 35 फीसदी बढ़ा है।   

Leave a Reply

Your email address will not be published.