ओला एक हजार कर्मचारियों को निकालने की तैयारी में, दे दिया गुलाबी परची 

मुंबई- इलेक्ट्रिक वाहन इंडस्ट्री में जबरदस्त बूम आने के बावजूद राइडशेयरिंग कंपनी ओला अपने एक हजार कर्मचारियों की छंटनी करने जा रही है। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, कंपनी ने अपने कुछ कर्मचारियों को पिंक स्लिप्स देना शुरू कर दिया है। वहीं बाकी कर्मियों के सालाना अप्रेजल को औपचारिक तौर पर लागू किया जाना बाकी है।  

बताया गया है कि पहले कंपनी ने 400-500 कर्मचारियों को निकालने की योजना तैयार की थी। हालांकि, अंतिम आंकड़ा एक हजार तक पहुंच सकता है।  

कंपनी के मानवबल में पुनर्गठन की यह कार्रवाई आने वाले कुछ हफ्तों तक जारी रह सकती है। फिलहाल कंपनी अपनी इलेक्ट्रिक मोबिलिटी बिजनेस पर फोकस कर रही है।  

कंपनी की हायरिंग प्रक्रिया से जुड़े एक एग्जीक्यूटिव ने बताया है कि इलेक्ट्रिक मोबिलिटी बिजनेस के लिए कंपनी बड़े पैमाने पर बहाली कर रही है। कंपनी से जुड़े सूत्रों के मुताबिक छंटनी की कार्रवाई मोबिलिटी, हायपरलोकल, फिनटेक और पुरानी कारों के बिजनेस सभी वर्टिकल्स में की जा रही है। 

कंपनी के एक एग्जीक्यूटिव के अनुसार जिन लोगों के नाम छंटनी के लिए तय किए गए हैं उन्हें स्वेच्छा से इस्तीफा देने के लिए कहा गया है। ओला के एक कर्मचारी के अनुसार जिन लोगों को कंपनी बाहर करना चाहती है उनकी अप्रेजल प्रक्रिया में भी देरी की जा रही है ताकि वे खुद इस्तीफा दे दें।

उनके अनुसार ओला ने सिर्फ अपने इलेक्ट्रिक कार बिजनेस के लिए 800 लोगों को बहाल करने की योजना बनाई है, उसके ऊपर जितनी बहाली होगी को लिथियम आयन बैटरी उत्पादन के लिए की जाएगी। कंपनी के एक कर्मचारी का कहना है कि अब भी जितने कर्मचारी बाहर किए जा रहे है, उससे अधिक बहाल किए जा रहे हैं। 

Leave a Reply

Your email address will not be published.