अगले महीने से महंगी होगी कर्ज की किस्त, आरबीआई बढ़ा सकता है दर  

मुंबई- अमेरिका के सेंट्रल बैंक फेड रिजर्व के बाद भारतीय रिजर्व बैंक (आरबीआई) एक बार फिर ब्याज दरों में बढ़ोतरी करने की तैयारी है। एक्सिस बैंक के मुख्य अर्थशास्त्री सौगत भट्टाचार्य की मानें तो ब्याज दरों में 0.35 से 0.50 प्रतिशत की वृद्धि हो सकती है। आरबीआई की मौद्रिक नीति समिति (MPC) बैठक अगले सप्ताह 3 अगस्त से शुरू होने वाली है, वहीं नतीजे 5 अगस्त को आएंगे।   

रिजर्व बैंक ने बढ़ती महंगाई को काबू में लाने के लिए मई और जून में रेपो रेट में कुल 0.90 प्रतिशत की वृद्धि की थी। इससे रेपो दर बढ़कर 4.90 प्रतिशत पर पहुंच गई है। तमाम एक्सपर्ट का अनुमान है कि चालू वित्त वर्ष के अंत तक रेपो दर 5.75 प्रतिशत हो जाएगी। 

बता दें कि रेपो रेट वह दर है जिस पर आरबीआई बैंकों को जरूरत पड़ने पर कर्ज देता है। रेपो रेट बढ़ने की स्थिति में बैंक लोन की ब्याज दर में इजाफा कर देते हैं। इससे लोन और ईएमआई महंगी हो सकती है। बुधवार को ही अमेरिकी फेडरल रिजर्व ने रेपो रेट में 0.75 प्रतिशत की वृद्धि की। इसके अलावा यूरोपीय केंद्रीय बैंक समेत अन्य देशों के केंद्रीय बैंक भी बढ़ती महंगाई को काबू में लाने के लिये ब्याज दर बढ़ा रहे हैं। 

Leave a Reply

Your email address will not be published.