स्पाइसजेट को झटका, 8 हफ्ते तक केवल 50 फीसदी फ्लाइट उड़ाने का आदेश 

मुंबई- स्पाइसजेट की फ्लाइट्स में पिछले कई दिनों से दिक्कतें सामने आने के बाद DGCA ने बड़ा फैसला लिया है। डीजीसीए ने 8 हफ्ते के लिए स्पाइसजेट की सिर्फ 50% फ्लाइट्स को उड़ान भरने का आदेश दिया है।  

18 दिनों के अंदर स्पाइसजेट के विमानों में 8 बार तकनीकी खराबी आई थी। जिसके बाद डीजीसीए ने कंपनी को नोटिस जारी किया था। हाल ही में सरकार ने भी राज्यसभा में जवाब देते हुए बताया कि DGCA ने स्पाइसजेट के विमानों की स्पॉट चेकिंग की थी। 

नागरिक उड्डयन राज्य मंत्री वीके सिंह ने हाल ही में राज्यसभा को बताया कि डीजीसीए ने 9 जुलाई से 13 जुलाई के बीच 48 स्पाइसजेट विमानों पर 53 स्पॉट चेक किए और इसमें कोई बड़ा सुरक्षा उल्लंघन नहीं पाया गया। 

6 जुलाई को स्पाइसजेट को भेजे अपने नोटिस में रेगुलेटर ने कहा था कि एयरलाइन एयरक्राफ्ट रूल्स 1937 के तहत ‘सुरक्षित हवाई सेवाएं देने में विफल रही है। घटनाओं से पता चलता है कि खराब आंतरिक सुरक्षा के कारण सिक्योरिटी मार्जिन में गिरावट आई है। रेगुलेटर ने नोटिस का जवाब देने के लिए एयरलाइन को तीन हफ्ते का समय दिया।

5 जुलाई को दिल्ली से दुबई जा रहे स्पाइसजेट के विमान के ऑयल इंडिकेटर में खराबी का पता लगा। इसके बाद फ्लाइट की पाकिस्तान के कराची में इमरजेंसी लैंडिंग करानी पड़ी। फ्लाइट में मौजूद सभी पैसेंजर सेफ थे। एयरलाइन ने कहा-स्पाइसजेट B-737 की फ्लाइट नंबर SG-11 दिल्ली से दुबई जा रही थी। यात्रियों को दुबई ले जाने के लिए दूसरी फ्लाइट भेजी गई। 

Leave a Reply

Your email address will not be published.