फिर शुरू हो सकती है रसोई गैस पर सब्सिडी, सरकार की है योजना  

मुंबई- एलपीजी (LPG) ग्राहकों को सरकार की तरफ से बड़ा तोहफा मिल सकता है। सरकार एलपीजी पर सब्सिडी को वापस शुरू कर सकती है। वित्त वर्ष 2022 में लिक्विफाइड पेट्रोलियम गैस यानी एलपीजी (LPG) पर बजटीय सब्सिडी (LPG Cylinder Subsidy) लगभग समाप्त होने के बाद अब वित्त वर्ष 2023 में केंद्र सरकार इसे वापस शुरू कर सकती है। अगर ऐसा होता है तो इससे लगभग 9 करोड़ लोगों को महंगे एलपीजी से थोड़ी राहत मिल सकती है।  

बता दें कि घरेलू गैस सिलेंडर की सब्सिडी दो साल पहले ही बंद की जा चुकी है। साल 2020 में कोरोना महामारी की पहली लहर के दौरान सरकार ने जून से ही गैस सिलेंडर पर मिलने वाली सब्सिडी को बंद कर रखा है। जून 2020 से रसोई गैस सब्सिडी के रूप में बैंक खातों में कोई सब्सिडी ट्रांसफर नहीं की गई है।  

हालांकि, उज्जवला योजना के तहत जिन लोगों को गैस सिलेंडर दिए गए थे, सिर्फ उन्हें 200 रुपये की सब्सिडी दी जा रही है। आपको बता दें कि लेटेस्ट आंकड़ों के मुताबिक, सरकार ने एलपीजी सब्सिडी बंद कर साल 2021-22 में 11,654 करोड़ की बचत की है। सरकार ने इस अवधि में एलपीजी सब्सिडी के रूप में उज्ज्वला स्कीम के तहत मात्र 242 करोड़ की सब्सिडी दी है। 

वित्त वर्ष 2023 के बजट में केंद्र ने एलपीजी सब्सिडी के लिए 5,800 करोड़ रुपये का प्रावधान किया। इसमें घरेलू उपयोग के लिए 4,000 करोड़ रुपये का डायरेक्ट लाभ ट्रांसफर और उज्ज्वला योजना के तहत गरीबों के लिए अन्य 800 करोड़ रुपये शामिल हैं। वित्त वर्ष 23 के लिए बजट आवंटन अपर्याप्त है। अतिरिक्त आवंटन की आवश्यकता होगी। लेकिन यह 40,000 करोड़ रुपये (पेट्रोलियम मंत्रालय द्वारा अनुमानित) जितना अधिक नहीं हो सकता है।  

Leave a Reply

Your email address will not be published.