दिल्ली, गुरुग्राम, लखनऊ सहित 13 शहरों में सबसे पहले शुरू होगी 5जी सेवा  

नई दिल्ली। 5जी स्पेक्ट्रम की नीलामी के पहले दिन 1.45 लाख करोड़ रुपये की बोली दूरसंचार कंपनियों ने लगाई है। दूरसंचार मंत्री अश्विनी वैष्णव ने बताया कि कुल 700 मेगाहर्ट्ज बैंड के लिए यह बोली लगाई गई है। उम्मीद है कि 15 अगस्त तक नीलामी की इस बोली को पूरा कर लिया जाएगा। साथ ही इस साल के अंत तक देश के कई शहरों में 5जी की सेवा शुरू होने की उम्मीद है।   

देश में 5जी सेवा के लिए स्पेक्ट्रम नीलामी की प्रक्रिया मंगलवार से शुरू हो गई। पहले चरण में देश के 13 प्रमुख शहरों में इस सेवा को शुरू किया जा सकता है। इसमें दिल्ली, गुरुग्राम, लखनऊ, अहमदाबाद, बंगलूरू, चंडीगढ़, चेन्नई, गांधीनगर, जामनगर, हैदराबाद, पुणे, मुंबई और कोलकाता शामिल हैं। हालांकि किस शहर में कौन सी दूरसंचार कंपनी अपनी सेवा शुरू करेगी, इसका पता बाद में चलेगा।  

कुल 4 प्रमुख दूरसंचार कंपनियां 5जी स्पेक्ट्रम की नीलामी में हिस्सा ले रही हैं। इसमें रिलायंस जियो 1.27 लाख करोड़ रुपये के लिए बोली लगा सकती है। इसने सबसे ज्यादा 21,000 करोड़ रुपये की बयाना जमा रकम जमा कराई है। एयरटेल 5जी स्पेक्ट्रम के लिए 48,000 करोड़ रुपये की बोली लगा सकती है। वोडाफोन आइडिया 20,0 करोड़ और अदाणी डाटा नेटवर्क 700 करोड़ रुपये के लिए बोली लगा सकती है। ब्रोकरेज हाउस जेफरीज ने कहा, हमारा अनुमान है कि जियो 800 मेगाहर्ट्ज और 1800 मेगाहर्ट्ज बैंड के लिए बोली लगा सकती है। 

जेफरीज ने कहा कि अदाणी समूह 26 गीगाहर्ट्ज के बैंड में केवल 100 मेगाहर्ट्ज की बोली लगा सकती है। जबकि एयरटेल अपने स्पेक्ट्रम को 6 और बाजारों में बढ़ा सकती है। 2021 में जियो ने 10,000 करोड़ रुपये की बयाना रकम जमा कराई थी। एयरटेल ने 3,000 करोड़ और वोडाफोन आइडिया ने 475 करोड़ रुपये की बयाना रकम जमा कराई थी। इस समय जियो ने 57,122 करोड़, एयरटेल ने 18,699 करोड़ और वोडाफोन ने 1,993 करोड़ रुपये का स्पेक्ट्रम खरीदा था। 

Leave a Reply

Your email address will not be published.