इंफोसिस का लाभ 5,360 करोड़, कोटक बैंक का एनपीए तेजी से बढ़ा 

मुंबई- दूसरी बड़ी सॉफ्टवेयर सेवा प्रदाता इंफोसिस ने रविवार को कहा कि चालू वित्त वर्ष की पहली तिमाही में उसका समेकित शुद्ध लाभ 3.2 प्रतिशत बढ़कर 5,360 करोड़ रुपये हो गया। इंफोसिस ने कहा कि एक साल पहले की समान तिमाही में उसका शुद्ध लाभ 5,195 करोड़ रुपये रहा था। 

इसी तिमाही में कंपनी का राजस्व 23.6 प्रतिशत बढ़कर 34,470 करोड़ रुपये हो गया। अप्रैल-जून 2021 की तिमाही में यह 27,869 करोड़ रुपये रहा था। पहली तिमाही की वृद्धि से उत्साहित इंफोसिस ने पूरे वित्त वर्ष के लिए अपने राजस्व आकलन को संशोधित करते हुए 14-16 प्रतिशत कर दिया है। पहले राजस्व आकलन 13-15 प्रतिशत की वृद्धि का था। 

कंपनी के मुख्य कार्यकारी अधिकारी एवं प्रबंध निदेशक सलिल पारेख ने एक बयान में कहा, ‘‘अनिश्चितता से भरे आर्थिक माहौल के बीच पहली तिमाही में हमारा समग्र प्रदर्शन सशक्त रहा है। यह एक संगठन के तौर पर हमारे स्वाभाविक लचीलेपन, हमारी उद्योग-अग्रणी डिजिटल क्षमताओं और सतत ग्राहक-प्रासंगिकता का एक साक्ष्य है।’’ 

पारेख ने कहा, ‘‘हम प्रतिभाओं को अपने साथ जोड़ने पर निवेश कर रहे हैं ताकि उभर रहे बाजार अवसरों का लाभ उठा सकें। पहली तिमाही में अच्छे प्रदर्शन के रूप में इसका नतीजा सामने आया है और वित्त वर्ष के लिए राजस्व आकलन को भी बढ़ाकर 14-16 प्रतिशत कर दिया गया है। 

कोटक महिंद्रा बैंक का वित्त वर्ष 2022-2023 की पहली तिमाही (अप्रैल-जून) में शुद्ध मुनाफा 26.10% बढ़कर 2,071.10 करोड़ रुपए रहा जबकि पिछले वित्त वर्ष की समान तिमाही में बैंक को1,641.90 करोड़ रुपए का शुद्ध मुनाफा हुआ था। अप्रैल-जून तिमाही में बैंक की शुद्ध ब्याज आय (NII) भी लगभग 19.20% बढ़कर 4,697 करोड़ रुपए रही, जबकि पिछले वित्त वर्ष की जून तिमाही में बैंक की NII 3,941.70 करोड़ रुपए थी। 

कोटक महिंद्रा बैंक का नेट नॉन परफॉर्मिंग एसेट्स यानी NPA वित्त वर्ष 22 की चौथी तिमाही में 1,737 करोड़ रुपए से लगभग 0.70% बढ़कर वित्त वर्ष 23 की पहली तिमाही में 1,749 करोड़ हो गया है। 

Leave a Reply

Your email address will not be published.