आयकर रिटर्न की तारीख 31 जुलाई से आगे नहीं बढ़ेगी 

मुंबई- आपने अभी तक अपना आयकर रिटर्न नहीं भरा है तो बिना देर किए उसे आज ही भर लें, अगर आपने आखिरी तारीख का इंतजार किया तो संभव है कि आप रिटर्न भरने में देर कर दें और पेनल्टी उठा लें क्यों कि सरकार ने साफ किया है कि इस साल आयकर रिटर्न भरने की आखिरी तारीख में कोई बढ़त नहीं होगी।  

सरकार के एक वरिष्ठ अधिकारी ने साफ किया है कि सरकार मान रही है कि इस बार अधिकतर रिटर्न आखिरी तारीख से पहले भर लिए जाएंगे ऐसे में तारीख आगे बढ़ाने की कोई जरूरत नहीं है। 

राजस्व सचिव तरुण बजाज ने कहा कि 20 जुलाई तक 2.3 करोड़ आईटीआर भरे जा चुके हैं और इसमें लगातार तेजी देखने को मिल रही है। उन्होने कहा कि पिछले वित्त वर्ष यानि साल 2020-21 में करीब 5.9 करोड़ आईटीआर भरे गए थे। तब आखिरी तारीख को कई बार बढ़ाया गया था। उम्मीद है कि इस साल आखिरी तारीख तक अधिकांश आईटीआर भर जाएंगे।  

सचिव ने कहा कि फिलहाल अंतिम तारीख बढ़ाने पर कोई बात नहीं हो रही है. उनके मुताबिक करदाताओं से रिस्पॉन्स मिला है कि रिटर्न बेहद तेजी और आसानी के साथ भरे जा रहे हैं और रिफंड भी तेजी से मिल रहे हैं, उन्होने कहा कि 2 करोड़ से ज्यादा रिटर्न भरे जा चुके हैं और किसी समस्या को लेकर शिकायत नहीं मिली है। ऐसे में आखिरी तारीख बढ़ाने पर विचार भी नहीं हो रहा। 

उन्होंने कहा कि लोग अब सोचने लगे हैं कि आखिरी तारीख बढ़ाना अब आम बात हो गई है, इसलिए वो शुरुआत में आईटीआर भरने में थोड़ी सुस्ती दिखाते हैं। हालांकि अब हर दिन 15 से 18 लाख तक आईटीआर भरी जा रही हैं और आने वाले समय में ये बढ़कर 25 से 30 लाख आईटीआर तक पहुंच जाएगी वहीं पिछले साल आखिरी दिन 9-10 प्रतिशत लोगों ने आईटीआर भरा था और ये आंकड़ा करीब 50 लाख का था। 

आईटी नियमों के अनुसार ऐसे करदाताओं के लिए जिनके खातों को ऑडिट करने की आवश्यकता नहीं है, रिटर्न भरने की अंतिम तारीख 31 जुलाई है. आयकर रिटर्न में किसी वित्त वर्ष में करदाता की आय और उस पर लगने वाले टैक्स की जानकारी होती है। आयकर विभाग 7 तरह के आईटीआर फार्म जारी करता है जो आय के सोर्स और टैक्सपेयर के आधार पर तय होती है।  

Leave a Reply

Your email address will not be published.