एयर इंडिया के 4,500 कर्मचारियों ने लिया वीआरएस  

मुंबई- एयर इंडिया के करीब 4500 कर्मचारियों ने कंपनी की ओर से ऑफर की गई वीआरएस स्कीम को स्वीकार कर लिया है। यह जानकारी एयर इंडिया के अंदरूनी सूत्रों से बाहर आ रही है। 

आपको बता दें कि टाटा ग्रुप ने एयर इंडिया के अधिग्रहण के बाद कंपनी में नई उर्जा का संचारन करने और अलग-अलग ऑपरेशंस में नए लोगों को बहाल करने के लिए अपने वर्तमान कर्मियों को आकर्षक वीआरएस स्कीम ऑफर किया था। यह प्रक्रिया कंपनी में नई उर्जा फूंकने के लिए कंपनी की एक अहम स्ट्रेटेजी के रूप में सामने आई थी। 

एयर इंडिया के एक एग्जीक्यूटिव के अनुसार एयरलाइन में फिलहाल लागत में कटौती, उत्पादकता में सुधार के साथ-साथ पुरातन प्रणालियों को पुनर्जीवित करने और डिजिटल संस्कृति अपनाने जैसे सुधारों पर काम चल रहा है। 

टाटा ग्रुप ने जब एयर इंडिया का अधिग्रहण किया गया था एयर इंडिया के पास लगभग 13000 कर्मचारी थे जिनमें 8000 हजार स्थायी और बाकी बचे हुए अनुबंध के आधार पर काम करने वाले कर्मचारी थे। 

एयर इंडिया के एक सूत्र के अनुसार कंपनी में एक बड़े बदलाव की प्रक्रिया चल रही है। कंपनी से जुड़े अधिकारी बताते हैं कि हम कुछ अत्याधुनिक एयरक्रॉफ्ट खरीदने वाले हैं। इसके लिए हमें अंतरराष्ट्रीय अनुभव रखने वाले शीर्ष प्रतिभाओं की जरूरत है जो नई इंजनों और मशीनों को ऑपरेट कर सकें। 

कंपनी के एक अधिकारी के अनुसार हम फ्लीट अपग्रेडेशन, अधिक से अधिक जगहों के लिए उड़ान सेवा संचालित करने और विमान में व ग्राउंड पर लोगों को विश्वस्तरीय सुविधा मुहैया कराने पर काम कर रहे हैं।जून महीने में एयर इंडिया ने अपने स्थायी कर्मचारियों को वीआरएस लेने के लिए जरूरी उम्रसीमा में छूट देकर इसे 55 वर्ष से 40 वर्ष कर दिया था। 

इसके साथ ही कंपनी की ओर से यह भी कहा गया था कि कंपनी के जो भी कर्मचारी वीआरएस के लिए एक जून 2022 से 31 जुलाई 2022 के बीच आवेदन देंगे उन्हें एक अनुग्रह राशि भी दी जाएगी। दो वर्षों में एयर इंडिया के तकरीबन 4000 कर्मचारी सेवानिवृत भी होने वाले हैं।  

Leave a Reply

Your email address will not be published.