मुंबई के पूर्व पुलिस आयुक्त संजय पांडे गिरफ्तार, अब रहेंगे हिरासत में  

मुंबई- मुंबई के पूर्व पुलिस आयुक्त संजय पांडे को नेशनल स्टॉक एक्सचेंज (एनएसई) के कर्मचारियों की कथित फोन टैपिंग से जुड़े मनी लॉन्ड्रिंग के मामले में ED ने गिरफ्तार कर लिया है। पिछले दो दिनों से उनसे प्रवर्तन निदेशालय (ED) की टीम पूछताछ कर रही थी। संजय पांडे 30 जून को रिटायर हो गए थे। 

मुंबई के पुलिस आयुक्त के रूप में अपने चार महीने के कार्यकाल से पहले, उन्होंने महाराष्ट्र के कार्यवाहक पुलिस महानिदेशक के रूप में भी सेवाएं दीं। वहीं, सीबीआई ने सोमवार को कहा था कि उसने पांडे और मुंबई के एक अन्य पूर्व पुलिस आयुक्त परमबीर सिंह से महाराष्ट्र के पूर्व मंत्री अनिल देशमुख के खिलाफ 100 करोड़ रुपए की वसूली के आरोप में पूछताछ की। 

एनएसई के कर्मचारियों की कथित फोन टैपिंग मामले में सीबीआई और ईडी दोनों ने संजय पांडे के खिलाफ मामला दर्ज किया है। ईडी ने इस महीने की शुरुआत में ‘को-लोकेशन’ घोटाला मामले में भी उनसे पूछताछ की थी।प्रवर्तन निदेशालय (ED) ने मनी लॉन्ड्रिंग मामले में शिवसेना सांसद संजय राउत को तलब किया है। उन्हें कल सुबह 11 बजे ED कार्यालय में पेश होने के लिए कहा गया है।

 
उधर, प्रवर्तन निदेशालय (ED) ने मनी लॉन्ड्रिंग मामले में शिवसेना सांसद संजय राउत को तलब किया है। उन्हें बुधवार सुबह 11 बजे ED कार्यालय में पेश होने के लिए कहा गया है। 

झारखंड के मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन के विधायक प्रतिनिधि पंकज मिश्रा को ED ने मंगलवार देर शाम गिरफ्तार कर लिया। इससे पहले राजधानी के हिनू स्थित ED कार्यालय में मिश्रा से टीम ने लगभग 8 घंटे तक पूछताछ की। उनकी गिरफ्तारी संथाल परगना में टेंडर मैनेज करने संबंधी घोटाले और अवैध खनन मामले में हुई है। 

सुबह 11 बजे मिश्रा ED कार्यालय पहुंचे थे। उनके एक करीबी डूहु यादव से भी टीम पूछताछ करने वाली थी, लेकिन वह अपनी मां के स्वास्थ्य का हवाला देकर नहीं आए। बता दें कि मई के पहले हफ्ते से ED झारखंड में लगातार एक्टिव है। तत्कालीन खनन सचिव और निलंबित IAS पूजा सिंघल के ठिकानों पर भी छापेमारी हुई थी। सिंघल और उनके पति के CA सुमन कुमार अभी रांची के बिरसा मुंडा केंद्रीय कारागार में बंद हैं। 

Leave a Reply

Your email address will not be published.