इस फेरीवाले को मिले हैं एके 47 से लैस दो पुलिसकर्मी  

मुंबई- एटा में एक कपड़े बेचने वाले व्यक्ति को दो कांस्टेबल सुरक्षा के लिए मिले हुए हैं। व्यक्ति कपड़े बेचने के लिए अपना ठेला सजाए हुए है। वहीं, दो गनर उसकी सुरक्षा में पीछे खड़े हैं। दोनों गनर हाथ में AK-47 लिए हुए हैं। दरअसल, कपड़े का ठेला लगाने वाले रामेश्वर दयाल को पूर्व सपा विधायक रामेश्वर सिंह यादव और जुगेंद्र सिंह से जान का खतरा है। 

रामेश्वर ने जमीन विवाद के बाद दोनों के खिलाफ 2014 में जाति सूचक गालियां देने और बंधक बनाकर बैनामा कराने के मामले में शिकायत की थी। तब से वो अपनी जमीन के लिए लड़ाई लड़ रहा है। जब वो मामले की सुनवाई के लिए कोर्ट पहुंचा, तो जज ने उनको सुरक्षा देने की बात कही। 

रामेश्वर के अनुसार 2014 अगस्त में रामेश्वर सिंह यादव और जुगेंद्र सिंह ने उसको और उसके भाई का किडनैप कर लिया था। वो लोग हमें अपने फार्म हाउस ले गए थे। 1 महीने तक हम लोगों को बंधक बनाया गया था। उसी दौरान हम लोगों की जमीन के कागज पर भी साइन करा लिया गया। दोनों ने मिलकर हम लोगों के साथ मारपीट भी की। साथ ही जातिसूचक शब्द भी बोले थे। उसके बाद हम लोगों को छोड़ दिया गया था।” 

उस समय यूपी में सपा की सरकार थी। हम लोगों ने बहुत जगह शिकायत की पर कोई फायदा नहीं हुआ। रामेश्वर सिंह यादव उस समय विधायक थे। वहीं जुगेंद्र सिंह जिला पंचायत अध्यक्ष थे। दोनों का क्षेत्र में बहुत दबदबा था। कुछ समय बाद हम लोग भी हार मानकर बैठ गए। 

2022 में यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ ने आरोपियों पर बुलडोजर की कार्रवाई शुरू की। हम लोगों को जानकारी मिली की इन दोनों की जमीन पर भी कार्रवाई हो रही है। कब्जे की जमीन को भी छुड़ाया जा रहा है। जिसके बाद हम लोगों ने फिर से 3 जून 2022 को मामले की शिकायत की।” 

मामला कोर्ट में गया। जब मैं इलाहाबाद हाईकोर्ट पहुंचा तो वहां जज ने मुझे अकेला देखकर हैरानी जताई। उन्होंने कहा, क्या तुम्हें पुलिस सुरक्षा नहीं मिली हुई है। मना करने पर उन्होंने एटा एसपी से बात करके मुझे सुरक्षा देने की बात कही। प्रयागराज से वापस आकर जब मैं 17 जुलाई को अपना ठेला लगाने पहुंचा तो दो पुलिसकर्मी मेरी सुरक्षा में तैनात थे। मामले में अगली सुनवाई 25 जुलाई को होगी।” 

Leave a Reply

Your email address will not be published.