आशीष चौहान एनएसई के नए एमडी होंगे, अभी तक बीएसई में थे 

मुंबई- आशीष कुमार चौहान नेशनल स्टॉक एक्सचेंज (NSE) के अगले मैनेजिंग डायरेक्टर और सीईओ होंगे। शेयर बाजार नियामक रेगुलेटर सेबी ने उनकी नियुक्ति को मंजूरी दे दी है। वर्तमान में, चौहान बीएसई (BSE) के एमडी और सीईओ हैं। रिपोर्ट में कहा गया है कि उन्हें पांच साल की अवधि के लिए नियुक्त किया गया है। 

इस पद पर चौहान विक्रम लिमये की जगह लेंगे, जिनका पांच साल का कार्यकाल शनिवार को खत्म हो रहा है। लिमये ने योग्य होने के बावजूद नेशनल स्टॉक एक्सचेंज (NSE) में दूसरे कार्यकाल के लिए अप्लाई नहीं किया है। चौहान एनएसई के फाउंडर्स में से एक है। उनके सामने ऐसे समय पर एक्सचेंज की अगुवाई करने की चुनौती है, जब इसे लेकर गवर्नेंस में लापरवाही के साथ को-लोकेशन स्कैम को लेकर रेगुलेटरी जांच-पड़ताल चल रही है। को-लोकेशन केस की वजह से ही एनएसई की पूर्व एमडी और सीईओ चित्रा रामकृष्ण की गिरफ्तारी हुई है। 

चौहान ने आईआईटी और आईआईएम से पढ़ाई की है और साल 1993 से लेकर 2000 के दौरान क्षेत्र में काम के लिए भारत में मॉर्डन फाइनेंशियल डेरिवेटिव्स का जनक कहा जाता है। उन्होंने निफ्टी इंडैक्स को भी बनाया और वे पहली स्क्रीन बेस्ड ट्रेडिंग को बनाने के इनचार्ज भी है। उन्होंने अपने करियर की शुरुआत IDBI के साथ एक बैंकर के तौर पर की थी। 

बीएसई में साल 2009 से, चौहान ने इसे 6 माइक्रोसेंकेंड रिस्पॉन्स टाइम के साथ दुनिया का सबसे तेज एक्सचेंज बनेने में भी मदद की। इसके साथ उन्होंने इसके रेवेन्यू में रिवाइवल में बड़ी भूमिका निभाई। उन्होंने भारत में मोबाइल स्टॉक ट्रेडिंग को पेश किया। चौहान ने बीएसई को नए क्षेत्रों में डायवर्सिफाई किया, जिनमें करेंसी, कमोडिटी और इक्विटी डेरिवेटिव्स, एमएमई, स्टार्टअप्स, म्यूचुअल फंड और इंश्योरेंस डिस्ट्रीब्यूशन, स्पॉट मार्केट्स और पावर ट्रेडिंग शामिल हैं। 

Leave a Reply

Your email address will not be published.