अनअकेदमी की मुश्किलें और बढ़ीं, कर्मचारियों की सुविधाओं में करेगी कटौती 

मुंबई- शिक्षा प्रौद्योगिकी कंपनी अनएकेडमी ने कंपनी को लाभ के रास्ते पर लाने के मकसद से कर्मचारियों को दी जाने वाली विभिन्न प्रकार की सुविधाओं और प्रबंधन स्तर पर वेतन कम करने समेत कई खर्चों में कटौती की है। कंपनी के संस्थापक और मुख्य कार्यपालक अधिकारी गौरव मुंजाल ने कर्मचारियों को भेजे एक संदेश में कहा है कि अनएकेडमी के कर्मचारियों को अब दफ्तर में खाना और नाश्ता नहीं मिलेगा।  

संस्थापकों और शीर्ष प्रबंधन सहित किसी भी कर्मचारी के लिये ‘बिजनेस क्लास’ में यात्रा की सुविधा नहीं होगी। साथ ही शीर्ष अधिकारियों को उपलब्ध करायी गयी चालक की सुविधा भी वापस ली जाएगी। उन्होंने कहा, ‘‘अब तक हम खर्च में कमी पर ध्यान नहीं दे रहे थे लेकिन अब लक्ष्य बदल गया है।  

कंपनी ने कहा कि हमें अगले दो साल में आईपीओ (आरंभिक सार्वजनिक निर्गम) लाना है। हमने नकदी प्रवाह को सकारात्मक बना दिया है। इसके लिये हमें खर्चों को कम करने की जरूरत है। मुंजाल ने कहा, ‘‘भले ही हमारे पास बैंक में 2,800 करोड़ रुपये से अधिक हैं, पर हम बिल्कुल भी सक्षम नहीं हैं। हम बहुत सारे अनावश्यक खर्च करते हैं। हमें इन सभी खर्चों में कटौती की जरूरत है। 

मुंजाल के मुताबिक, खर्चों में इस कटौती से लगेगा कि कंपनी अच्छी स्थिति में नहीं है, लेकिन ऐसा बिल्कुल नहीं है। उन्होंने कहा, हमारे पास पर्याप्त पूंजी है लेकिन हम अपने कारोबार को लाभ में लाना चाहते हैं। उल्लेखनीय है कि इससे पहले अनएकेडमी ने कामकाज और पदों की जरूरत नहीं होने का हवाला देते हुए करीब 600 कर्मचारियों को काम से हटाया था। यह उसके कुल कर्मचारियों का करीब 10 प्रतिशत है। 

Leave a Reply

Your email address will not be published.