इंडिगो की और बढ़ी परेशान, अब दूसरे कर्मचारी भी छुट्‌टी पर  

मुंबई- पायलटों और केबिन क्रू के बाद अब इंडिगो को कुछ स्टेशन्स पर अपने एयरक्राफ्ट मेंटेनेंस टेक्निशियंस (AMT) से परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। अच्छा इंक्रीमेंट नहीं होने के विरोध में बड़ी संख्या में टेक्निशियंस ने हैदराबाद और दिल्ली जैसे प्रमुख केंद्रों पर सामूहिक अवकाश लिया है। हालांकि इंडिगो की तरफ से अब तक इस मामले पर कोई जवाब नहीं आया है। 

कुछ टेक्निशियंस ने 8 जुलाई को हैदराबाद में नाइट शिफ्ट के लिए रिपोर्ट नहीं किया। एयरलाइन हैदराबाद और दिल्ली में स्थिति की बारीकी से निगरानी कर रही है। टेक्निशियंस के मास लीव के कारण अभी तक फ्लाइट में देरी की कोई सूचना नहीं है। एयरलाइन ने इस समस्या से निपटने के लिए पर्याप्त उपाय किए हैं। 

इससे पहले 2 जुलाई को इंडिगो के केबिन क्रू ने बड़ी संख्या में मास लीव ली थी। बताया गया था कि केबिन क्रू ने एयर इंडिया के वॉक-इन इंटरव्यू में शामिल होने के लिए ऐसा किया था। उस दिन इंडिगो की 55% उड़ानें लेट हुई थी। 

एयरलाइन में फिलहाल बड़ा फेरबदल चल रहा है। CEO रोनोजॉय दत्ता और चीफ कॉमर्शियल ऑफिसर विली बौल्टर सहित अन्य कुछ ऑफिसर्स ने इस्तीफा दे दिया है। केएलएम रॉयल डच एयरलाइंस के चेयरमैन और CEO पीटर एल्बर्स इंडिग के CEO के रूप में कार्यभार संभालेंगे। यह ट्रांजिशन पीरियड भारत की सबसे बड़ी एयरलाइन के लिए पैसेंजर कैरिज के लिहाज से कठिन साबित हो रहा है। 

कोरोना महामारी के दौरान, इंडिगो ने अपने पायलट के वेतन में 28% तक की कटौती की थी। इस साल 1 अप्रैल को एयरलाइन ने पायलटों के वेतन में 8% और फिर एक बार 8% की बढ़ोतरी करने के अपने फैसले की घोषणा की थी। इसके बावजूद वर्तमान वेतन अब भी 2020 से पहले के स्तरों से लगभग 16% कम है। 

Leave a Reply

Your email address will not be published.