एक साल में 3.4 करोड़ बढ़े इंटरनेट ग्राहक, देश में अब भी 74,000 पीसीओ  

मुंबई। देश में एक साल में टेलीफोन और इंटरनेट ग्राहकों की संख्या में बढ़ोतरी दर्ज की गई है, जबकि दूरसंचार कंपनियों की कमाई में कमी आई है। भारतीय दूरसंचार विनियामक प्राधिकरण (ट्राई) की ताजा रिपोर्ट के मुताबिक, 2021 में टेलीफोन ग्राहकों की संख्या बढ़कर 117.84 करोड़ पहुंच गई। 2020 में यह संख्या 117.3 करोड़ रही थी। 

रिपोर्ट के मुताबिक, पिछले साल इंटरनेट ग्राहकों की कुल संख्या 3.4 करोड़ बढ़कर 82.93 करोड़ पहुंच गई। 2020 तक देश में कुल 79.51 करोड़ लोग इंटरनेट का इस्तेमाल करते थे। डीटीएच उपभोक्ताओं की संख्या एक साल में बढ़कर 6.85 करोड़ पहुंच गई।  

वहीं, दूरसंचार कंपनियों की हर ग्राहक से कमाई (एआरपीयू) 94.87 रुपये से बढ़कर 108.40 रुपये पहुंच गई। एआरपीयू बढ़ने के बावजूद दूरसंचार कंपनियों की कमाई दिसंबर, 2021 तक 5,628 करोड़ घटकर 2,68,580 करोड़ रुपये रह गई। 2020 में इन कंपनियों को 2,74,208 करोड़ रुपये की कमाई हुई थी। 

कुल 117.84 करोड़ टेलीफोन उपभोक्ताओं में शहरी यूजर्स की संख्या 65.5 करोड़ है, जबकि ग्रामीण इलाकों में 52.3 करोड़ लोग टेलीफोन का इस्तेमाल करते हैं। टेलीफोन उपभोक्ताओं के मामले में सरकारी दूरसंचार कंपनियां निजी कंपनियों से काफी पीछे रह गईं। सरकारी कंपनियों की बाजार हिस्सेदारी जहां 10.86 फीसदी है, वहीं निजी कंपनियों की हिस्सेदारी 89.14 फीसदी है। 

कुल 82.93 करोड़ इंटरनेट ग्राहकों में मोबाइल के जरिये इंटरनेट का इस्तेमाल करने की हिस्सेदारी 96.66 फीसदी है। 3.20 फीसदी यूजर्स ब्रॉडबैंड का इस्तेमाल करते हैं, जबकि वायरलेस इंटरनेट यूजर्स की हिस्सेदारी 0.14 फीसदी है। 

रिपोर्ट के मुताबिक, देश में हर 100 में 60.43 फीसदी लोग इंटरनेट का इस्तेमाल करते हैं। शहरी इलाकों में यह संख्या 103.95 है, जबकि ग्रामीण इलाकों में हर 100 में 37.25 लोग इंटरनेट चलाते हैं। स्मार्टफोन की लगातार बढ़ रही संख्या के बावजूद देश में अब भी 74,000 पब्लिक कॉल ऑफिस (पीसीओ) हैं। हालांकि, इसकी संख्या में 46.26 फीसदी गिरावट आई है। 2020 में देशभर में कुल 1.37 लाख पीसीओ थे। 

Leave a Reply

Your email address will not be published.