डॉलर की तुलना में रुपया गिरकर 78.40 पर पहुंचा, आगे और गिरेगा  

मुंबई- डॉलर के मुकाबले रुपया बुधवार को रिकॉर्ड निचले स्तर पर पहुंच गया। ये 27 पैसे कमजोर होकर 78.40 पर बंद हुआ। रुपया 78.13 पर खुला था और दिनभर के कारोबार में इसने 78.40 का निचला और 78.13 का उच्चतम स्तर बनाया। वित्तीय बाजारों से लगातार विदेशी फंड का आउटफ्लो और कच्चे तेल की कीमतों में बढ़ोतरी ने रुपए पर दबाव बढ़ाया है। 

मेहता इक्विटीज के वीपी (कमोडिटीज) राहुल कलंत्री ने कहा, ‘अमेरिकी फेडरल रिजर्व की आक्रामक रूप से ब्याज दरों में बढ़ोतरी की योजना और FII की लगातार बिकवाली रुपए पर दबाव डाल रही है। बढ़ता व्यापार घाटा और कच्चे तेल की ऊंची कीमतें भी रुपए की बढ़त को रोक रही हैं। ऐसा लगता है कि इस हफ्ते रुपया अस्थिर रहेगा और 78.45 के रेजिस्टेंस लेवल को टेस्ट करेगा।’ 

करेंसी के उतार-चढ़ाव के कई कारण होते हैं। डॉलर की तुलना में किसी भी अन्य करेंसी की वैल्यू घटे तो इसे उस करेंसी का गिरना, टूटना, कमजोर होना कहते हैं। अंग्रेजी में – करेंसी डेप्रिशिएशन। हर देश के पास विदेशी मुद्रा का भंडार होता है, जिससे वह अंतरराष्ट्रीय लेन-देन करता है। 

Leave a Reply

Your email address will not be published.