अप्रैल में फॉर्मल सेक्टर की नौकरियों में 38 फीसदी का इजाफा हुआ 

मुंबई- अप्रैल, 2022 में फॉर्मल सेक्टर में 37.9 फीसदी नौकरियों में इजाफा देखने को मिला है। अप्रैल 2022 में ईपीएफओ ने 17.08  लाख नए सब्सक्राइबर जोड़े हैं। जो अप्रैल 2021 में 4.32 लाख सब्सक्राइबर ज्यादा है। अप्रैल 2021 में ईपीएफओ ने 12.76 लाख नए सब्सक्राइबर जोड़े थे। एम्पलॉय प्राविडेंट फंड (EPFO) ने प्रॉविजनल पेरोल डाटा जारी किया है। 

एम्पलॉय प्राविडेंट फंड आर्गनाईजेशन (EPFO) द्वारा जारी किए आंकड़ों के मुताबिक अप्रैल 2022 में कुल 17.08 लाख नए ईपीएफ सब्सक्राइबर जुड़े हैं। जो अप्रैल 2021 के मुकाबले 34 फीसदी ज्यादा है। 17.08 लाख जो नए सब्सक्राइबर बने हैं उनमें से 9.23 लाख पहली बार ईपीएफ एक्ट के तहत शामिल हुए हैं। जबकि 7.85 लाख ईपीएफ सब्सक्राइबर ईपीएफ से बाहर हो गए थे लेकिन फिर से नौकरी बदलने के कारण फिर से ईपीएफ और ईपीएस के सदस्य बन गए हैं।  

इन लोगों ने पुराने पीएफ खाते में जमा रकम को निकालने की बजाये मौजूदा ईपीएफ खाते में रकम ट्रांसफर किया है। कुल सब्सक्राइबर्स में महिलाओं की संख्या 3.65 लाख है। यानि मार्च 2022 के मुकाबले 17,187 संख्या ज्यादा है. कुल पेरोल में महिला सब्सक्राइबर्स की हिस्सेदारी 21.38 फीसदी है। 

श्रम मंत्रालय द्वारा जारी किए गए आंकड़ों के मुताबिक सबसे ज्यादा संगठित क्षेत्र में नौकरियां महाराष्ट्र, हरियाणा, गुजरात, तमिलनाडु दिल्ली और कर्नाटक में पैदा हुई हैं। इन राज्यों में 11.60 लाख लोगों को संगठित क्षेत्र में नौकरी मिल है जो कि कुल पेरोल का 67.91 फीसदी है।  

इंडस्ट्री के लिहाज से पेरोल डाटा पर नजर डालें तो एक्सपर्ट सर्विसेज जिसमें मैनपावर एजेंसी, प्राइवेट सिक्योरिटी एजेंसी और छोटे कॉंट्रैक्टर शामिल हैं। इसके साथ ही बिल्डिंग, कंस्ट्रक्शन, टेक्सटाइल, स्कूल्स, रेस्ट्रां और सीमेंट इंडस्ट्री में भी कई नए पेरोल पर जुड़ते लोग दिखे हैं जो ईपीएफओ के सदस्य बने हैं। 

Leave a Reply

Your email address will not be published.