अग्निवीरों को भाजपा कार्यालय में मिलेगी चौकीदारी की नौकरी, महासचिव ने दिया आश्वासन  

मुंबई- जिस अग्निपथ और अग्निवीर के मुद्दे पर पूरे देश में युवा आंदोलन कर रहे हैं, उसमें एक नया मोड़ आ गया है। भारतीय जनता पार्टी के महासचिव कैलाश विजयवर्गीय ने कहा कि वे अपने भाजपा कार्यालय में चौकीदारों को नौकरी देने के लिए अग्निवीरों को प्राथमिकता देंगे। इंदौर में एक प्रेस कांफ्रेंस में उन्होंने यह आश्वासन दिया।  

विजयवर्गीय ने कहा कि कल को उनको चौकीदारों की जरूरत हुई तो वो सबसे पहले अग्निवीरों को नौकरी देंगे। उनके इस बयान को भाजपा सांसद वरुण गांधी ने ट्वीट किया और लिखा कि  

जिस महान सेना की वीर गाथाएँ कह सकने में समूचा शब्दकोश असमर्थ हो, जिनके पराक्रम का डंका समस्त विश्व में गुंजायमान हो, उस भारतीय सैनिक को किसी राजनीतिक दफ़्तर की ‘चौकीदारी’ करने का न्यौता, उसे देने वाले को ही मुबारक। भारतीय सेना माँ भारती की सेवा का माध्यम है, महज एक ‘नौकरी’ नहीं। 

सांसद गांधी ने कहा कि सैन्य अभ्यर्थियों के इस संघर्ष में मैं हर कदम पर उनके साथ खड़ा हूँ। आप सभी से विनम्र निवेदन है कि धैर्य से काम लें और ‘लोकतांत्रिक मर्यादा’ बनाए रखते हुए अपने ज्ञापन विभिन्न माध्यमों से सरकार तक पहुँचाये। ‘सुरक्षित भविष्य’ हर युवा का अधिकार है! न्याय होगा। 

उधर, अग्निपथ योजना के भारी विरोध के बाद रक्षा मंत्रालय ने इससे जुड़ी सारी बातें साफ कर दी हैं। जैसे, ये योजना वापस नहीं होगी। प्रदर्शन के नाम पर तोड़फोड़ करने वाले कभी अग्निवीर नहीं बन पाएंगे और सभी भर्तियां इसी योजना के तहत होंगी। एयरफोर्स ने भर्ती का नोटिफिकेशन जारी कर दिया है, आज आर्मी भी कर देगी। 

देश भर में विरोध के बावजूद सरकार सेना भर्ती की नई योजना अग्निपथ वापस नहीं लेगी। तीनों सेनाओं ने इसके तहत भर्ती की प्रक्रिया पर आगे बढ़ना शुरू कर दिया है। सबसे पहले एयरफोर्स ने नोटिफिकेशन जारी किया। इसके मुताबिक, भर्ती होने वाले अग्निवीर 4 साल से पहले नौकरी नहीं छोड़ पाएंगे। वे सभी सैन्य सम्मान के हकदार होंगे और उन्हें साल में 30 दिन की छुट्‌टी भी मिलेगी।

अग्निपथ के विरोध पर रक्षा मंत्रालय ने प्रेस कॉन्फ्रेंस की। इसमें लेफ्टिनेंट जनरल अनिल पुरी ने साफ किया कि सेना की पहली जरूरत अनुशासन है। इसलिए उपद्रव करने वाले अग्निवीर नहीं बन पाएंगे। बिना पुलिस वैरिफिकेशन के कोई सेना में शामिल नहीं होगा। उन्होंने बताया कि अब सभी भर्तियां अग्निपथ स्कीम के तहत ही होंगी। 25 हजार अग्निवीरों का पहला बैच दिसंबर में आर्मी जॉइन कर लेगा। 

Leave a Reply

Your email address will not be published.