क्रिप्टो में डूबे निवेशक, 22 लाख करोड़ रुपये की लगी चपत, बिटकॉइन और टूटा

मुंबई- बिटक्वाइन से लेकर लाइटक्वाइन और पोल्काडॉट तक टॉप-10 में शामिल लगभग सभी क्रिप्टोकरेंसी में काफी दिनों से जोरदार गिरावट देखने को मिल रही है। हाल ये है कि इस हफ्ते क्रिप्टोकरेंसी का कुल मार्केट कैप एक लाख करोड़ डॉलर के नीचे आ गया है।

10 जनवरी को क्रिप्टो का मार्केट कैप 1.87 लाख करोड़ डॉलर था, जो शनिवार तक 88 हजार करोड़ डॉलर पर आ गया। इस बीच बिटक्वाइन और इथेरियम का दाम हर बीतते दिन के साथ टूटने का नया रिकॉर्ड बनाती जा रही है।

दुनिया की सबसे लोकप्रिय क्रिप्टोकरेंसी बिटक्वाइन की कीमत में बीते 24 घंटों के दौरान नौ फीसदी की गिरावट आई है और इसका भाव 1,53,584 रुपये घटकर 16,09,188 रुपये रह गया है। बिटक्वाइन का बाजार पूंजीकरण भी गिरकर 31.4 ट्रिलियन रह गया है।

इसके अलावा बिटक्वाइन के बाद दूसरी सबसे पसंदीदा क्रिप्टोकरेंसी इथेरियम के दाम में भी इस दौरान 9.23 फीसदी की बड़ी गिरावट आई है और यह 8,499 रुपये टूटकर 83,618 रुपये का रह गया है। इसके साथ ही इसका मार्केट कैप भी फिसलकर 10.5 ट्रिलियन रह गया है।

गौर करने वाली बात यह भी रही कि बीते दिनों से जारी गिरावट के बीच लगातार बढ़त में कारोबार कर रहे टेथर क्वाइन में भी अब मी आई है और यह मामूली गिरावट के साथ 83.43 रुपये का रह गया है। क्रिप्टो बाजार में जारी इस बड़ी गिरावट के कारण जो हाहाकार मचा हुआ है उससे निवेशकों की नींद उड़ चुकी है। इस पूरे हफ्ते ज्यादातर क्रिप्टोकरेंसियों के भाव में कमी आई है।

पिछले सात दिनों में ही क्रिप्टोकरेंसी बाजार में निवेश करने वालों को 22 लाख करोड़ रुपये का नुकसान हुआ है। सिर्फ क्रिप्टो बाजार ही नहीं बल्कि शेयर बाजारों के लिए भी ये हफ्ता बेहद बुरा साबित हुआ है और अमेरिका से लेकर भारतीय बाजारों तक में निवेशकों को तगड़ा घाटा झेलना पड़ा है। बिटक्वाइन और इथेरियम अपने उच्च स्तर से इतना नीचे गिर चुकी हैं कि हाल-फिलहाल इसमें सुधार होने की उम्मीद कम ही नजर आ रही है।

क्रिप्टो बाजार में गिरावट के इस दौर में बिनांस क्वाइन का भी बुरा हाल है। एक दिन में ही इसमें आठ फीसदी की गिरावट देखने को मिली है और इसका दाम 1369 रुपये टूटकर 16,947 रुपये रह गया है। रिप्पल की बात करें तो इसमें सात फीसदी और सोलाना में 7.89 फीसदी की गिरावट दर्ज की गई है। डॉजक्वाइन को दाम 6.26 फीसदी गिरकर 4.54 रुपये पर पहुंच गया है।

इसके साथ ही टॉप-10 में शामिल पोल्काडॉट का दाम 8.11 फीसदी कम होकर 565 रुपये रह गया है। एवबॉन्च की कीमत में भी तेजी से कमी आई है और यह 7.37 फीसदी फिसलकर 1,270 रुपये की हो गई है। बात करें शीबा इनु की तो इसका भाव पांच फीसदी गिरकर 0.000655 रुपये और लाइटक्वाइन 3.37 फीसदी की गिरावट के साथ 3,783 रुपये का हो गया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.