जून में शेयर बाजार में निवेशकों के 11.83 लाख करोड़ डूबे 

मुंबई। घरेलू शेयर बाजारों में सोमवार को लगातार दूसरे दिन बड़ी गिरावट रही। सेंसेक्स 1,457 अंक टूट गया, जबकि निफ्टी 16,000 से नीचे पहुंचकर बंद हुआ। हालांकि जून महीने में अब तक 11.83 लाख करोड़ रुपये निवेशकों के डूब चुके हैं।  

इसके अलावा, विदेशी निवेशकों की भारतीय बाजार से लगातार पूंजी निकासी और रुपये के पहली बार 78 प्रति डॉलर से नीचे पहुंचने के कारण भी बाजार पर दबाव बढ़ा। इससे सेंसेक्स 1,456.74 अंक या 2.68 फीसदी गिरकर 52,846.70 पर बंद हुआ। निफ्टी 427.40 अंक या 2.64 फीसदी टूटकर 15,774.40 पर बंद हुआ।  

बाजार में गिरावट से सूचीबद्ध कंपनियों की बाजार पूंजी 6.64 लाख करोड़ घटकर 245.19 लाख करोड़ रुपये रह गई। दो दिन में निवेशकों को 9.75 लाख करोड़ की चपत लगी। उधर, अंतरराष्ट्रीय तेल मानक ब्रेंट क्रूड 0.98 फीसदी गिरावट के साथ 120.75 डॉलर प्रति बैरल पर आ गया।  

अमेरिकी बाजार लाल निशान में बंद हुए। डाउ जोंस में 800 अंकों, एसएंडपी-500 में 2.9 फीसदी और नासडैक में 3.5 फीसदी गिरावट रही। एशियाई बाजारों में जापान का निक्केई 2.6 फीसदी, हांगकांग का हैंगसेंग 3 फीसदी, दक्षिण कोरिया का कॉस्पी 3.18 फीसदी और शंघाई कम्पोजिट एक फीसदी टूट गया। विदेशी संस्थागत निवेशक पूंजी बाजार में शुद्ध बिकवाल बने हुए हैं। उन्होंने शुक्रवार को 3,973.95 करोड़ रुपये की निकासी की। 

घरेलू बाजार में गिरावट और अमेरिकी मुद्रा में मजबूती से डॉलर के मुकाबले रुपया सोमवार को 20 पैसे टूटकर 78.13 के सार्वकालिक निचले स्तर पर पहुंच गया। कारोबारियों का कहना है कि एशियाई मुद्राओं में कमजोरी और विदेशी निवेशकों की लगातार पूंजी निकासी से घरेलू मुद्रा पर दबाव बढ़ा। 

Leave a Reply

Your email address will not be published.