ये हैं रफीक, दिन में 14-15 किलो खाते हैं राशन, शादी में लोग बुलाने से डरते हैं 

मुंबई- कटिहार के जयनगर के 30 साल के मोहम्मद रफीक अदनान। इनका वजन है 200 किलो। आम बाइक इनका वजन नहीं उठा पाती इसलिए बुलेट से चलते हैं। लेकिन, वह भी मानो हांफ जाती है। रफीक हर दिन 3 किलो चावल, 4 किलो आटे की रोटी, 2 किलो मीट, डेढ़ किलो मछली खाते हैं। उन्हें तीन टाइम एक-एक लीटर दूध की भी जरूरत पड़ती है। यानी खाना-पीना मिलाकर रोज की खुराक है 14-15 किलो। 

अपने वजन के चलते उन्हें चलने में भी परेशानी होती है। लोग उनका मजाक भी उड़ाते हैं। एक बीवी उनके लिए ठीक से खाना नहीं बना पाती थी। मोटापे के चलते उनके बच्चे भी नहीं हो पा रहे हैं। इसके चलते रफीक ने दूसरी शादी कर ली। उनकी डाइट की वजह से लोग उन्हें शादी और दूसरे कार्यक्रम में बुलाने से भी डरते हैं। 

रफीक ने बताया कि वह पैदल चल नहीं पाते। अगर कुछ दूर चलते हैं तो हांफ जाते हैं। बुलेट भी वजन की वजह से दिक्कत देती है। रफीक के मुताबिक वह बचपन से ही ऐसे हैं। पहले चलने-फिरने में परेशानी नहीं होती थी, लेकिन अब ऐसा होता है। रफीक के पड़ोसी सुलेमान ने बताया कि पूरी हाड़ी का खाना वो खा जाते हैं। थोड़ा ही बच पाता है। वजन अब ज्यादा बढ़ गया है। इसकी वजह से बुलेट भी कभी-कभार फंस जाती है।  

​​​​​​रफीक संपन्न किसान हैं, जिसकी वजह से उन्हें खाने-पीने में किसी तरह की दिक्कत नहीं आती। विशेषज्ञ कहते हैं कि ईटिंग डिसऑर्डर और भी कई तरह के होते हैं, जिसमें एनोरेक्सिया नर्वोसा, ऑर्थोरेक्सिया नर्वोसा और बिंज ईटिंग डिसऑर्डर शामिल हैं। विशेषज्ञ कहते हैं कि एनोरेक्सिया एक मानसिक स्थिति है, जिससे पीड़ित लोग अपने वजन को लेकर बहुत अधिक संजीदा हो जाते हैं और ऐसे में वो अधिक डाइटिंग और व्यायाम का सहारा लेते हैं।  

Leave a Reply

Your email address will not be published.