एलआईसी का शेयर जा सकता है 670 रुपये तक, लगातार घाटा  

मुंबई- देश की सबसे बड़ी बीमा कंपनी एलआईसी के शेयर लगातार टूटते जा रहे हैं और यह सिलसिला नौ दिनों से जारी है। शुक्रवार को बीएसई पर इसका भाव इश्यू प्राइस से 25 फीसदी टूटकर 709.20 रुपये पर आ गया। गौरतलब है कि कंपनी के शेयरों का प्राइस बैंड 902-949 रुपये तय किया गया था। इसके 670 रुपये तक जाने का अनुमान है।  

विशेषज्ञों का कहना है कि बुनियादी तौर पर मजबूत कंपनी होने और अच्छी लिस्टिंग कीमत होने के बावजूद, उच्च मुद्रास्फीति के माहौल के साथ-साथ मंदी संभावना ने बीमा दिग्गज एलआईसी के सामने ये संकट खड़ा कर दिया है। विशेषज्ञ इसके 670 के करीब तक गिरावट की संभावना व्यक्त कर रहे हैं।  

गौरतलब है कि एलआईसी का आईपीओ आने से पहले ही ऐसी उम्मीद जताई जा रही थी कि देश के सबसे बड़े आईपीओ का हाल भी पेटीएम की तरह ही हो सकता है, और जिस हिसाब से इसके शेयरों में लिस्टिंग के बाद से गिरावट आती जा रहा है, उससे लगता है कि एलआईसी भी पेटीएम की राह पर चल रही है। 

गौरतलब है कि एलआईसी ने आईपीओ के जरिए बाजार से 21 हजार करोड़ रुपये जुटाए थे। यह चार मई से नौ मई तक सब्सक्रिप्शन के लिए खुला था और 17 मई को शेयर बाजार में लिस्ट हुआ था। आईपीओ को 2.94 गुना सब्सक्राइब किया गया था। इसके शेयरों की कीमत 902-949 रुपये प्रति शेयर निर्धारित की गई थी।  

बता दें कि एलआईसी के शेयर अनुमान के मुताबिक, डिस्काउंट पर लिस्ट हुए थे और निवेशकों का बुरी तरह निराश किया था। शेयर बीएसई पर 81.80 रुपये डिस्काउंट यानी 8.62 फीसदी टूटकर 867.20 रुपये पर, जबकि एनएसई पर गिरावट के साथ 872 रुपये पर लिस्ट हुए थे। 

सरकार ने शुक्रवार को कहा कि एलआईसी के शेयर में गिरावट को लेकर वह ‘चिंतित’ है। हालांकि उसने इस गिरावट को अस्थायी बताया। सरकार ने कहा कि बीमा कंपनी प्रबंधन इन पहलुओं को देखेगा और शेयरधारकों के मूल्य में वृद्धि करेगा। 

Leave a Reply

Your email address will not be published.