बजट अनुमान से ज्यादा रह सकता है टैक्स राजस्व संग्रह 

मुंबई। राजस्व सचिव तरुण बजाज ने कहा है कि चालू वित्तवर्ष में टैक्स राजस्व संग्रह बजट अनुमान से ज्यादा रह सकता है। पिछले वित्तवर्ष में अप्रत्यक्ष कर 20 फीसदी और प्रत्यक्ष कर 49 फीसदी बढ़ा था। जीडीपी के अनुपात में टैक्स 2021-22 में 11.7 फीसदी बढ़ा था जो 1999 के बाद से सबसे ज्यादा था।  

2020-21 में अनुपात 10.3 फीसदी था। पिछले साल देश का कर संग्रह 27.07 लाख करोड़ रुपये था जो एक रिकॉर्ड था। बजट अनुमान 22.17 लाख करोड़ रुपये था। बजाज ने कहा कि 2021-22 के बजट में जो अनुमान लगाया गया है, सरकार उससे 5 लाख करोड़ रुपये ज्यादा हासिल कर सकती है। उन्होंने कहा कि अभी हम जून के महीने में हैं, और सही अनुमान अगले एक दो महीने में ही लग सकता है। पर जिस तरह के रुझान हैं, वे काफी आशावादी हैं। 

Leave a Reply

Your email address will not be published.