और महंगा होगा लोन, 30 लाख के होम लोन पर 905 रुपये बढ़ेगी किस्त 

मुंबई- भारतीय रिजर्व बैंक ने एक बार फिर से रेपो रेट में बढ़ोतरी कर दी है। इस बार 0.50 फीसदी की बढ़ोतरी की गई है। मुद्रास्फीति में कमी के कोई संकेत नहीं दिखाई दे रहे हैं, जिसके चलते रेपो दरों में फिर से बढ़ोतरी करनी पड़ी है।  

पिछली बार (4 मई) रिजर्व बैंक ने 40 बेसिस प्वाइंट यानी 0.40 फीसदी की बढ़ोतरी की थी। यानी करीब महीने भर (35 दिन) में ही रिजर्व बैंक ने रेपो रेट में कुल 90 बेसिस प्वाइंट यानी 0.90 फीसदी की बढ़ोतरी कर दी है। अब नया रेपो रेट 4.90 फीसदी हो गया है। इसका सीधा असर आपकी ईएमआई पर होगा। 

मान लीजिए, आपने 20 साल की अवधि के लिए 30 लाख रुपये का होम लोन लिया है तो मई के मुकाबले अब हर महीने आपकी ईएमआई 905.4 रुपये बढ़ जाएगी। इसका सीधा मतलब है कि हर साल आपको 10,864.80 रुपये की चपत लगेगी। इसी तरह, अगर आपने कार खरीदने के लिए 5 साल के लिए 5 लाख रुपये का कर्ज लिया है तो रेपो दर में इस बढ़ोतरी के बाद हर महीने 122 रुपये ज्यादा मासिक किस्त देनी पड़ेगी। एक साल में यह रकम 1,220 रुपये बढ़ जाएगी। 

आरबीआई गवर्नर शक्तिकांत दास ने कहा कि सरकार महंगाई की मौजूदा स्थिति को लेकर सचेत है। नीतिगत दर को लेकर आगामी परिस्थितियों को देखते हुए कदम उठाया जाएगा। अब सरकार को आगे आपूर्ति पक्ष से जुड़े उन उपायों पर निर्णय लेना है, जिन्हें वे आवश्यक समझते हैं। सटीक उपाय क्या हो सकते हैं, इस पर विचार या टिप्पणी करना केंद्रीय बैंक का काम नहीं है। दास ने कहा कि केंद्रीय बैंक अर्थव्यवस्था की उत्पादक जरूरतों को पूरा करने के लिए पर्याप्त नकदी की उपलब्धता सुनिश्चित करेगा। आर्थिक वृद्धि के लिहाज से कर्ज देने के लिए बैंकों के पास पर्याप्त नकदी उपलब्ध होगी। 

Leave a Reply

Your email address will not be published.