सीएनजी गैस की कीमतें बढ़ने से वाहनों की बिक्री पर पड़ा असर 

मुंबई- गैस की कीमतों में बढ़ोतरी का असर CNG वाहनों की बिक्री पर भी नजर आ रहा है। मार्च में अपने उच्चतम स्तर 35,069 पर पहुंचने के बाद CNG+पेट्रोल से चलने वाली कारों की बिक्री मई में 11.58% की गिरावट के साथ 31,008 रह गई।  

जानकार इसके पीछे CNG के दाम बढ़ने को मुख्य वजह बता रहे हैं। इसी दौरान, पेट्रोल से चलने वाले वाहनों की बिक्री 12.88 लाख से बढ़कर 13.56 लाख हो गई। सालाना आधार पर CNG के दाम 74% से ज्यादा बढ़ चुके हैं। कई शहरों में दाम 85 रुपए के पार हैं। बीते साल दिल्ली में CNG का दाम 43.40 रुपए प्रति किलो था, जो अब 75.61 रुपए है।  

मार्च से अब तक CNG 18-20 रुपए प्रति किलो महंगी हो चुकी है। जबकि इस दौरान पेट्रोल-डीजल की कीमतों में क्रमश: 1.31 और 3 रुपए प्रति लीटर की ही तेजी आई है। CNG की कीमत पिछले कुछ दिनों में लगभग 18 से 20 रुपए बढ़ चुकी है। CNG गैस और CNG किट के महंगे होने से CNG एक वैकल्पिक ईधन के रूप में वाहन चालकों के लिए महंगी होती जा रही है।’ 

आटो इंडस्ट्री के जानकारों के मुताबिक, CNG कारों की कीमत पहले ही पेट्रोल कारों की तुलना में 1 लाख रुपए से लेकर 2 लाख रुपए तक महंगी होती हैं। साथ ही CNG के सिलेंडर के चलते बूट स्पेस भी कम हो जाता है। देश में मारुति सुजुकी CNG कारों की सबसे बड़ी विक्रेता है। इसके अलावा ह्युंडई और टाटा भी CNG गाड़ियां बेचते हैं। 

Leave a Reply

Your email address will not be published.