पबजी नहीं खेलने देने पर 16 साल के बेटे ने मां की गोली मारकर हत्या की 

मुंबई- लखनऊ में PUBG ना खेलने देने से नाराज 16 साल के बेटे ने अपनी मां की गोली मारकर हत्या कर दी। तीन दिनों तक उसने घर में ही मां की लाश को छुपाए रखा। हत्या के बाद उसी रात को बेटे ने 10 साल की बहन के साथ घर में रात गुजारी।  

उसके एक दोस्त ने उसके घर आकर मां के बारे में पूछा तो बताया कि दादी की तबीयत खराब है। मम्मी उनके पास गई है। हत्या के तीन दिन बीतने के बाद, यानी सोमवार की रात एक और दोस्त को रुकने के लिए घर बुलाया। इस रात दोनों ने कुछ खाना घर में बनाया। अंडा करी ऑनलाइन मंगवाई। तब तक शव सड़ने लगा था और बदबू आ रही थी। 

दोस्त को भनक न लगे, इसके लिए हत्यारे बेटे ने पूरे घर में रूम फ्रेशनर डाला। मंगलवार की सुबह दोस्त चला गया तो आरोपी मोहल्ले में खेलने निकाला। शाम तक दुर्गंध फैलने लगी, तो उसने रात में पिता को वीडियो कॉल किया। फिर वारदात के बारे में बताया। 

मूल रूप से वाराणसी के रहने वाले नवीन कुमार सिंह सेना में जूनियर कमीशन्ड ऑफिसर हैं। वे पश्चिम बंगाल में है। लखनऊ के पीजीआई इलाके में यमुनापुरम कॉलोनी में उनका मकान है। यहां उनकी पत्नी साधना (40 साल) अपने 16 साल के बेटे और 10 साल की बेटी के साथ रहती थीं। बेटे ने मंगलवार रात अपने पिता नवीन को वीडियो कॉल करके बताया कि उसने मां की हत्या कर दी है। उसने पिता को शव भी दिखाया।  

नवीन ने एक रिश्तेदार को फोन करके तत्काल अपने घर भेजा। पुलिस पहुंची तो घर के अंदर के हालात देखकर दंग रह गई। पुलिस ने मृतका के रिश्तेदारों और परिवार वालों से पूछताछ की। पुलिस के मुताबिक, बेटा मोबाइल पर गेम खेलने का आदी था, लेकिन साधना उसे गेम खेलने से रोकती थीं।  

शनिवार की रात भी उन्होंने बेटे को गेम खेलने से मना किया। बेटा इससे नाराज हो गया। रात करीब 2 बजे जब साधना गहरी नींद में थीं, उसने अलमारी से पिता की पिस्टल निकाली और मां की हत्या कर दी। इसके बाद बहन को डरा-धमकाकर उसी कमरे में बंद कर दिया। 

पुलिस ने मंगलवार देर रात बाहर का गेट खोला तो घर के अंदर से असहनीय बदबू आ रही थी। पुलिस वाले नाक पर रुमाल रखकर किसी तरह भीतर दाखिल हुए तो बेड पर साधना की सड़ी हुई लाश पड़ी थी। शव इतना सड़ चुका था कि चेहरा पहचान पाना मुश्किल था। उसी कमरे में सिसकियां लेती साधना की 10 साल की बेटी भी थी। पुलिस का दावा है कि बेटे ने बहन के सामने मां को गोली मारी। इससे वो इतनी दहशत में आ गई कि भाई के कहने पर मां की लाश के साथ ही सोती रही। 

लाश सड़ जाने की वजह से शरीर पर गन शॉट दिखाई नहीं दे रहे थे। पुलिस ने बताया कि बेटे से घटना के बारे में जानकारी ली गई तो उसने पहले गुमराह करना शुरू किया। बताया कि बिजली मिस्त्री घर आया था। उसी ने मां की हत्या कर दी है, लेकिन कड़ी पूछताछ के बाद पूरी कहानी सामने आ गई।  

Leave a Reply

Your email address will not be published.