इसी साल बिक जाएगा सीसीआई और हिंदुस्तान जिंक के साथ सेंट्रल बैंक  

मुंबई- वित्त मंत्रालय के एक अधिकारी ने कहा कि हम मार्च 2023 से पहले कंटेनर कॉरपोरेशन ऑफ इंडिया और हिंदुस्तान जिंक लिमिटेड की विनिवेश प्रक्रिया शुरू करने के लिए भी आश्वस्त हैं।  

दरअसल, हिंदुस्तान जिंक में केंद्र की 29.58 फीसदी हिस्सेदारी बेचने की मंजूरी मिल चुकी है। आर्थिक मामलों की मंत्रिमंडलीय समिति ने पिछले सप्ताह इस बिक्री को मंजूरी दी थी, जिससे सरकारी खजाने में 38,000 करोड़ रुपये से अधिक की आय होने की उम्मीद है। 

आपको बता दें कि सरकार ने चालू वित्त वर्ष के लिए 65,000 करोड़ रुपये का विनिवेश लक्ष्य रखा है। इन कंपनियों की बिक्री से सरकार यह लक्ष्य आसानी से हासिल कर सकेगी। 

पिछले साल सरकार बीमा कंपनी एलआईसी के आईपीओ में देरी की वजह से विनिवेश लक्ष्य को हासिल नहीं कर पाई थी, वहीं इस साल एलआईसी इश्यू और ओएनजीसी ऑफर-फॉर-सेल से 23,574 करोड़ रुपये जुटाए हैं। 

हाल ही में सरकार ने भारत पेट्रोलियम कॉर्पोरेशन लिमिटेड (BPCL) के विनिवेश प्रक्रिया पर रोक लगा दी है। दरअसल, एक खरीदार की वजह से सरकार को यह फैसला लेना पड़ा है। वित्त मंत्रालय के अधिकारी के मुताबिक BPCL बिक्री प्रक्रिया को अलग-अलग शर्तों के साथ फिर से देखा जाएगा। हालांकि, यह कब तक होगा, भविष्यवाणी करना मुश्किल है। 

Leave a Reply

Your email address will not be published.