आईसीआईसीआई बैंक से भी नीचे चला गया एलआईसी का मार्केट कैप 

मुंबई- अब तक का सबसे बड़ा आरंभिक सार्वजनिक निर्गम (आईपीओ) लाने वाली दिग्गज बीमा कंपनी एलआईसी को लिस्टिंग के बाद से जो नुकसान हुआ, वह बढ़ता ही जा रहा है। शेयर बाजार में लिस्ट होने के बाद से ही कंपनी के शेयरों में गिरावट का सिलसिला जारी है और इसके चलते कंपनी अब देश की छठी सबसे मूल्यवान कंपनी नहीं रही है। इसके अलावा इसके शेयरों का भाव भी टूटकर 52 हफ्ते के निचले स्तर पर पहुंच गया है। 

देश की सबसे बड़ी बीमा कंपनी एलआईसी मार्केट कैप के हिसाब से छठी सबसे बड़ी कंपनी बनी थी, लेकिन अब आईसीआईसीआई बैंक ने उसे पछाड़ते हुए छठे स्थान पर अपनी मौजूदगी दर्ज कराई है। जबकि लगातार शेयरों में आई रही गिरावट के कारण एलआईसी एक पायदान खिसकर देश की सातवीं मूल्यवान कंपनी बन गई है। एलआईसी का मार्केट कैप 5,13,273.56 करोड़ रुपये है, जबकि आईसीआईसीआई बैंक का बाजार पूंजीकरण 5,22,519.50 करोड़ रुपये हो गया है। 

गौरतलब है कि कि एलआईसी ने अपना 21000 करोड़ रुपये का आईपीओ चार मई 2022 को पेश किया था और यह नौ मई तक सब्सक्रिप्शन के लिए खुला रहा था। कंपनी ने शेयरों का प्राइस बैंड 902-949 रुपये निर्धारित किया था, लेकिन लिस्टिंग के बाद से यह टूटता गया।  

एनएसई पर इसकी कीमत 801 रुपये तक आ गई थी, जो इश्यू प्राइस से 148 रुपये कम है। ताजा भाव की बात करें तो बुधवार कंपनी का शेयर 813.10 रुपये पर था। रिलायंस इंडस्ट्रीज लिमिटेड पहले पायदान पर बनी हुई है। रिलायंस का बाजार पूंजीकरण 17,81,838.68 करोड़ रुपये है। टाटा कंसल्टेंसी सर्विसेज (टीसीएस) 12,31,197.61 करोड़ रुपये के साथ दूसरी सबसे मूल्यवान कंपनी बनी हुई है। 

Leave a Reply

Your email address will not be published.