क्रिप्टोकरेंसी पर चर्चा के लिए सरकार लाएगी पेपर, जल्द ही होगा फैसला 

मुंबई- आर्थिक मामलों के सचिव अजय सेठ ने सोमवार को कहा कि क्रिप्टोकरेंसी पर एक परामर्श पत्र को अंतिम रूप दिया जा चुका है और जल्द ही इसे पेश किया जाएगा। वित्त मंत्रालय की तरफ से आयोजित एक कार्यक्रम से इतर सेठ ने कहा कि क्रिप्टोकरेंसी के मुद्दे पर घरेलू एवं अन्य भागीदारों के साथ व्यापक चर्चा की गई है और उसी के आधार पर परामर्श पत्र तैयार किया गया है।  

उन्होंने कहा कि क्रिप्टोकरेंसी की वजह से पैदा होने वाली चुनौतियों से निपटने के लिए वैश्विक स्तर पर कदम उठाने की जरूरत है। भारत ने क्रिप्टोकरेंसी को लेकर सजग रुख अपनाया हुआ है। इस बारे में अभी तक कोई नीतिगत स्पष्टता नहीं आ पाई है। इसपर परामर्श पत्र तैयार करना इसी दिशा में उठाया गया कदम माना जा रहा है।  

अर्थव्यवस्था की मौजूदा स्थिति पर सेठ ने कहा कि चुनौतीपूर्ण परिवेश के बावजूद भारत दुनियाभर में सबसे तेजी से बढ़ती हुई बड़ी अर्थव्यवस्था बना रहेगा। आर्थिक मामलों के सचिव ने कहा कि क्रिप्टोकरेंसी को लेकर एक वैश्विक सहमति बननी बेहद जरूरी है। लेकिन सरकार भारतीय निवेशकों की सुरक्षा को देखते हुए क्रिप्टोकरेंसी को विनियमित करने से पहले दूसरे देशों द्वारा उठाए गए कदमों पर गौर करेगी।  

सेठ ने कहा कि हमने गहन विचार-विमर्श किया है और न केवल घरेलू हितधारकों बल्कि आईएमएफ, विश्व बैंक जैसे संगठनों से भी सुझाव लिया है। गौरतलब है कि वित्त वर्ष 2022-23 के बजट में वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने वर्चुअल डिजिटल संपत्ति के लेनदेन से होने वाली आय पर 30 फीसदी टैक्स लगाने की घोषणा की थी।  

बजट में वर्चुअल डिजिटल एसेट्स के लेनदेन पर 1 फीसदी टीडीएस लगाने का भी ऐलान हुआ था। बिटकॉइन में सोमवार को तेजी देखने को मिली है। बिटकॉइन पिछले 24 घंटे में करीब 3 फीसदी की तेजी के साथ 24,34,700 रुपये पर ट्रेड करती दिखाई दी।  

Leave a Reply

Your email address will not be published.