अडाणी ग्रुप अब ड्रोन में भी उतरेगी, रक्षा क्षेत्र में बड़ा दांव खेलेगी 

मुंबई- अडाणी ग्रुप ने एविएशन इंडस्ट्री में एक और बड़ी डील की है। गौतम अडाणी के लीडरशिप वाली अडाणी एंटरप्राइजेज की एक सब्सिडियरी ने कॉमर्शियल ड्रोन बनाने वाली बेंगलुरु की एक स्टार्टअप कंपनी जनरल एयरोनॉटिक्स में निवेश किया है। 

अडाणी ग्रुप रक्षा सेक्टर में भी धीरे-धीरे अपना दखल बढ़ा रहा है। समूह की अडाणी डिफेंस सिस्टम एंड टेक्नोलॉजी ने जनरल एयरोनॉटिक्स नाम की ड्रोन बनाने वाली कंपनी में 50% हिस्सेदारी खरीदने के लिए एक डील की है। अडाणी डिफेंस के CEO आशीष राजवंशी ने BSE फाइलिंग में जानकारी दी कि इस अधिग्रहण से कंपनी को अपनी मिलिट्री UAV कैपेसिटी बढ़ाने में मदद मिलेगी। 

इस डील में डिफेंस कैपेसिटी के लिए काम करने के साथ कंपनी डोमेस्टिक एग्रीकल्चर सेक्टर पर जोर देगी। जनरल एयरोनॉटिक्स खासतौर पर एग्री सेक्टर के लिए काम करती है। ये रोबोटिक ड्रोन बनाती है जो फसल के नुकसान होने से बचाने के लिए अलग-अलग तरीके से काम लाए जाते हैं। साथ ही आर्टिफीशियल इंटेलिजेंस का इस्तेमाल करके फसल की निगरानी भी करते हैं। 

ये पार्टनरशिप कितने रुपए में हुई है, कंपनी ने इसकी जानकारी अभी नहीं दी है, लेकिन ये डील 31 जुलाई 2022 तक पूरी करने का लक्ष्य रखा गया है। एविएशन सेक्टर में भी अडाणी ग्रुप ने हाल में काफी निवेश किया है। कंपनी ने कई एयरपोर्ट्स के संचालन का ठेका हासिल किया है। 

अभी कंपनी के पास देश के प्रमुख एयरपोर्ट्स के ऑपरेशन का ठेका है, इसमें जयपुर, अहमदाबाद और मुंबई के एयरपोर्ट शामिल हैं। केंद्र सरकार देश में ड्रोन सेक्टर को खासी तवज्जो दे रही है। इसके लिए सरकार ने ड्रोन नीति भी तैयार की है। वहीं घरेलू स्तर पर इनकी मैन्युफैक्चरिंग को बढ़ावा देना भी सरकार का टारगेट है। 

गौतम अडाणी हेल्थकेयर सेक्टर में उतरने को तैयार हैं। इसके लिए अडाणी एंटरप्राइजेस की सब्सिडियरी ने अडाणी हेल्थ वेंचर्स लिमिटेड कंपनी बनाई है। इसे 17 मई को बनाया गया। AHVL चिकित्सा और जांच सुविधाओं की स्थापना व संचालन के अलावा, हेल्थ टेक्नोलॉजी आधारित सुविधाओं, रिसर्च सेंटर्स आदि की स्थापना करेगी।  

ग्रुप हेल्थकेयर सेक्टर में करीब 31,088 करोड़ रुपए का निवेश कर सकता है। अडाणी ग्रुप और पीरामल हेल्थकेयर सरकारी फार्मा कंपनी HLL हेल्थकेयर को खरीदने की होड़ में हैं। समूह ने अंबुजा सीमेट्स और ACC के अधिग्रहण की भी घोषणा की थी। स्विट्जरलैंड के होलसिम समूह से अडाणी समूह ने इन दोनों कंपनियों में बड़ी हिस्सेदारी खरीदी है।  

Leave a Reply

Your email address will not be published.