100 रुपये के नोट का ज्यादा होता है लेन-देन, 2000 सबसे कम पसंद 

मुंबई- देश में कैशलेस पेमेंट के बढ़ते चलन के बीच 100 रुपए का नोट अभी भी नकद लेनदेन के लिए सबसे पसंदीदा नोट बना हुआ है। भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) की रिपोर्ट के मुताबिक, 2 हजार रुपए के नोट को लेनदेन के लिए कम पसंद किया जाता है। वहीं 500 रुपए के नोट का इस्तेमाल सबसे ज्यादा हो रहा है। 

28 राज्यों और तीन केंद्र शासित प्रदेशों के ग्रामीण, अर्ध-शहरी, शहरी और महानगरीय क्षेत्रों में किए गए इस सर्वे में सामने आया है कि देश में सिर्फ 3% लोग ही ऐसे हैं जो नोटों के असली-नकली की पहचान नहीं कर पाते हैं। यानी 97% लोगों को महात्मा गांधी की तस्वीर, वॉटरमार्क या सुरक्षा धागे की जानकारी है।

सिक्कों की बात करें तो नगद लेनदेन के लिए 5 रुपए के सिक्के का सबसे ज्यादा उपयोग किया जाता है। वहीं एक रुपए के सिक्के को उपयोग करना लोग कम पसंद करते हैं। 100 रुपए के नोट के ज्यादा उपयोग होने का एक कारण लोगों की कम आय का होना भी है। 

हमारे देश में 90% लोगों की इनकम कम है, जिस कारण वो आमतौर पर 100 रुपए से लेकर 300 रुपए तक का सामान ही खरीदते हैं। ऐसे मामलों में लोग डिजिटल लेनदेन की जगह नगद देना पसंद करते हैं। रिपोर्ट के अनुसार 2021-22 के दौरान कैश की मात्रा में 5% की बढ़ोतरी हुई है। इसमें सबसे ज्यादा 34.9% 500 रुपए के नोट की हिस्सेदारी रही। कोरोना महामारी के दौरान लोगों द्वारा आपातकाल के लिए धन जमा करने की खबरें थीं। इसके चलते नोटों की संख्या बढ़ी है। 

Leave a Reply

Your email address will not be published.