एक्सिस फंड में और बढ़ेगा जांच का दायरा, 4-5 कर्मचारी आ सकते हैं लपेटे में 

मुंबई। एक्सिस म्यूचुअल फंड में चल रही जांच का दायरा कुछ और लोगों तक बढ़ सकता है। खबर है कि 4-5 और कर्मचारियों की इसमें जांच हो रही है। फंड हाउस की खुद की रिपोर्ट अगले 4-5 हफ्ते में आने की संभावना है, जबकि सेबी की रिपोर्ट भी जून तक आने की उम्मीद है।  

एक्सिस बैंक के एमडी अमिताभ चौधरी का कहना है कि एक्सिस फंड में हुई गड़बड़ी में किसी और ने शिकायत नहीं की थी, बल्कि फंड हाउस ने अपने आधार पर जांच की थी। हालांकि अभी भी इसकी रिपोर्ट कुछ हफ्तों में आएगी। उनका कहना है कि इस जांच का दायरा अभी और बढ़ेगा। 

अभी तक फंड हाउस ने खुद इस मामले में जांच कर दो फंड प्रबंधकों को निकाल दिया है। जबकि सेबी अभी भी जांच कर रहा है। सूत्रों के मुताबिक, शुरुआती दौर में विरेश जोशी और दीपक अग्रवाल की जांच हुई थी और उन्हें निकाल दिया गया था। हालांकि इस मामले में एक्सिस फंड के एमडी चंद्रेश निगम ने भेजे गए सवाल का कोई जवाब नहीं दिया। 

सूत्रों के मुताबिक, सेबी इस पूरे मामले में केवल फ्रंट रनिंग की ही जांच नहीं कर रहा है। बल्कि वह कई और मामलों की जांच कर रहा है। देश की सातवीं सबसे बड़ी फंड कंपनी का असेट अंडर मैनेजमेंट (एयूएम) 2.59 लाख करोड़ रुपये है। यानी निवेशकों के निवेश की इस समय इतनी कीमत है। 

इस घटना के आने के बाद एक्सिस फंड ने दोनों फंड मैनेजर को हटाकर नया फंड मैनेजर नियुक्त किया। हालांकि जिन स्कीम में ये फंड मैनेजर थे, उनकी नेट असेट वैल्यू (एनएवी) में भारी गिरावट आई है। पिछले 3 महीने में एक्सिस बैंकिंग ईटीएफ की एनएवी 8.15 फीसदी गिरी है, जबकि निफ्टी ईटीएफ में 4.14 फीसदी की गिरावट आई है। क्वांट फंड में 5.61, टेक्नोलॉजी फंड में 14.57 और वैल्यू फंड में 6.45 फीसदी की कमी आई है। 

Leave a Reply

Your email address will not be published.