ताज होटल की कंपनी आईएचसीएल का 300 होटल तक जाने का लक्ष्य  

मुंबई। ताज समूह को चलाने वाली इंडियन होटल कंपनी लि. (आईएचसीएल) ने कहा है कि वह 300 होटलों के पोर्टफोलियो को बनाने का लक्ष्य रखी है। साथ ही वह नए कारोबार को मजबूत देगी। इसने 100 होटल के लिए करार किया है और पिछले 5 सालों में 40 नए होटल खोले हैं। इससे यह तेजी से बढ़ने वाली हॉस्पिटालिटी कंपनी बन गई है।

 कंपनी के एमडी पुनीत चटवाल ने कहा कि हमारा लक्ष्य 300 होटलों को बनाने का है और साथ ही एबिट्डा में 33 फीसदी की वृद्धि का लक्ष्य है। यह 2025 से 2026 के दौरान नए कारोबार से आएगा। हॉस्पिटालिटी कंपनी ने कहा कि वह अपनी बैलेंसशीट को मजबूत करने और नकदी पर फोकस कर रही है। इसका लक्ष्य पूरी तरह से कर्जमुक्त बनने का है। 

चटवाल ने कहा कि इसका जिंजर ब्रांड एक महत्वपूर्ण ब्रांड है और इसके तहत 125 होटल को विकसित किया जाएगा। यह 25 से ज्यादा शहरों में अपना विस्तार करेगा। उन्होंने कहा कि कंपनी लगातार टेक्नोलॉजी पर मजबूत फोकस करेगी और अपने पोर्टफोलियो का पुनर्गठन भी करेगी। इसका 50-50 का हिस्सा खुद के और किराये वाले होटल में होगा। इस समय यह हिस्सा 53 और 47 के अनुपात में है। 

कंपनी ने कहा कि इसके पाइपलाइन में 60 होटल हैं। इस समय भारत में 100 शहरों में यह मौजूद है। ताज ब्रांड के नाम से इसका प्रमुख होटल है जिसे बढ़ाकर 100 किया जाना है और विवांता ब्रांड एवं सिलेक्शन को बढा़कर 75 किया जाना है। इसके पोर्टफोलियो में कुल 236 होटल हैं जिसमें से 60 वैश्विक स्तर पर विकसित हो रहे हैं और यह 4 उपमहाद्वीपों में और 11 देशों में हैं। कंपनी बिना जरूरत वाली संपत्तियों को बेचने का भी लक्ष्य रखी है। जिसमें गुरुग्राम, विशाखापट्टनम और अन्य संपत्तियां हैं। 

Leave a Reply

Your email address will not be published.