2021-22 में निवेशकों ने एनएफओ में लगाए 1.08 लाख करोड़ रुपये  

मुंबई- खुदरा निवेशकों ने बाजार की तेजी को देखते हुए 2021-22 में म्यूचुअल फंड के नए फंड ऑफर (एनएफओ) में कुल 1.08 लाख करोड़ रुपये लगाए हैं। इस दौरान म्यूचुअल फंड  कंपनियों ने कुल 176 नए फंड को लॉन्च किया। पूरे साल में सभी म्यूचुअल फंड हाउसों ने नई योजनाएं लॉन्च की थी।  

आंकड़ों के मुताबिक, इन नई योजनाओं में क्लोज एंडेड फंड और एक्सचेंज ट्रेडेड फंड (ईटीएफ) भी थे। इससे पहले 2020-21 में कुल 84 एनएफओ जारी किए गए थे और उसके जरिये केवल 42,038 करोड़ रुपये की ही रकम जुटाई गई थी। उसकी तुलना में इस बार 65 हजार करोड़ ज्यादा रकम जुटाई गई है। 

आंकड़ों के मुताबिक, खुदरा निवेशकों और बाजार की तेजी के साथ लोगों के हाथ में कोरोना की वजह से ज्यादा पैसे थे, जिससे फंड हाउसों को इतना अच्छा सब्सक्रिप्शन मिला। मार्च, 2020 के बाद से शेयर बाजार लगातार तेजी में रहा और अक्तूबर, 2021 में यह अपने शीर्ष स्तर 62,000 को पार कर गया था। हालांकि इस दौरान सेबी ने काफी कुछ बदलाव किया, जिससे निवेशकों के तेजी से पैसा लगाया। 

सबसे ज्यादा 49 एनएफओ इंडेक्स सेगमेंट में लॉन्च किए गए और इससे 10,629 करोड़ रुपये जुटाए गए। ईटीएफ में 34 एनएफओ के जरिये 7,619 करोड़ और फिक्स्ड टर्म प्लान में 32 फंड के जरिये 5,751 करोड़ रुपये जुटाए गए। इसके अलावा अंतरराष्ट्रीय फंडों के जरिये 5,218 करोड़ रुपये और 11 सेक्टरल एनएफओ से 9,127 करोड़ रुपये कंपनियों को मिले। 

जानकारों का मानना है कि इंडेक्स फंड और ईटीएफ को बहुत अच्छा पैसा नहीं मिला। 2022-23 में अब तक केवल 4 एनएफओ लॉन्च किए गए हैं और इससे 3,307 करोड़ रुपये ही मिले हैं। इसमें से भी आईसीआईसीआई प्रूडेंशियल के हाउसिंग फंड ने 3,159 करोड़ रुपये जुटाया है। दरअसल, सेबी ने नए फंड को जारी करने पर रोक लगा दी है। सेबी ने कहा है कि  जब तक निवेशकों के पैसे सीधे फंड कंपनियों के खाते में नहीं आते, तब तक नए फंड लॉन्च नहीं होंगे। 

जानकारों का मानना है कि जुलाई के बाद ही अब नए फंड लॉन्च हो सकते हैं क्योंकि सेबी ने इसके लिए फंड हाउसों को अप्रैल में कहा था कि 3 महीने में यह नियम पूरा करें। कम से कम 15 स्कीम लॉन्च के लिए इस समय तैयार हैं। साथ ही हाल में एक्सिस फंड में हुई घटना से भी इसकी विश्वसनीयता पर आंच आई है। 

Leave a Reply

Your email address will not be published.