जेट एयरवेज को मिली मंजूरी, जल्द ही शुरू होने की संभावना  

मुंबई- डायरेक्टोरेट जनरल ऑफ सिविल एविएशन (DGCA) ने जेट एयरवेज को एयर ऑपरेटर सर्टिफिकेट (AOC) दे दिया है। एयरलाइन अब आधिकारिक तौर पर उड़ान भर सकेगी। इससे पहले 8 मई को मिनिस्ट्री ऑफ सिविल एविएशन ने गृह मंत्रालय की मंजूरी पर जेट 2.0 को सिक्योरिटी क्लीयरेंस दिया था। जेट एयरवेज के AOP को फ्लाइट बंद होने के महीनों बाद निष्क्रिय कर दिया गया था। 

पिछले महीने, एयरलाइन ने विस्तारा के पूर्व मुख्य रणनीतिकार संजीव कपूर को अपना CEO भी बनाया था। संजीव कपूर ने जेट के AOC के रिवैलिडेट होने के बाद कहा ‘री-स्टार्ट टीम में शामिल हम सभी नई जेट एयरवेज को डिजिटल युग के लिए एक मॉडर्न, अलग, लोगों पर केंद्रित एयरलाइन बनाने के लिए प्रतिबद्ध हैं। बार को और भी ऊंचा सेट करेंगे। इसके लिए जेट एयरवेज को जिन अच्छी बातों के लिए 25 सालों से जाना जाता था उसे और नए आइडियाज को साथ जोड़ेंगे। 

कर्ज में दबे होने के कारण जेट एयरवेज 17 अप्रैल 2019 में बंद हो गई थी। इससे पहले एयरलाइन को साउथ एशियन नेशन की सबसे बड़ी प्राइवेट एयरलाइन का दर्जा हासिल था। नेशनल कंपनी लॉ ट्रिब्यूनल (NCLT) के बैंकरप्सी रिजॉल्यूशन प्रोसेस में जेट एयरवेज की निविदा जीतनेवाले कालरॉक कैपिटल और मुरारी लाल जालान का समूह था। जालान एक दुबई में व्यापारी हैं। कालरॉक कैपिटल मैनेजमेंट लिमिटेड फाइनेंशियल एडवाइजरी और अल्टरनेटिव एसेट मैनेजमेंट के क्षेत्र में काम करने वाली लंदन की कंपनी है। 

Leave a Reply

Your email address will not be published.