सितंबर-अक्तूबर तक हो शुरू हो सकती है भारत की 5जी सेवा  

मुंबई- केंद्रीय मंत्री अश्विनी वैष्णव ने कहा है कि भारत की खुद की 5जी सेवा इस साल सितंबर-अक्तूबर तक शुरू हो जाएगी। भारतीय दूरसंचार प्राधिकरण (ट्राई) के एक कार्यक्रम में उन्होंने कहा कि डिजिटल अंतर को पाटना एक  ऐसी दुनिया में और भी महत्वपूर्ण हो गया है, जहां तकनीक आर्थिक विकास में महत्वपूर्ण भूमिका निभा रही है। इसके लिए सरकार समावेशी विकास सुनिश्चित करने के लिए अपने सभी प्रयासों को निर्देशित कर रही है।  

5 जी तकनीक बहुत आधुनिक चरण में है। उन्होंने यह भरोसा दिलाया कि यह तकनीक अच्छी और कम लागत के साथ बेहतर गुणवत्ता वाली होगी। 5 जी के स्पेक्ट्रम की नीलामी जून-जुलाई में शुरू होने की उम्मीद है। इसे अगले सप्ताह केंद्रीय मंत्रिमंडल के पास भेजा जा सकता है। 

मंत्री ने कहा कि हकीकत में, यह दूरसंचार ग्राहकों के लिए उनके देश में एक बड़ा योगदान होगा। इससे सरकार के कार्यक्रम और योजनाएं समाज के उन लोगों तक पहुंचेगी, जो काफी दूर-दराज इलाके में रहते हैं। ट्राई के चेयरमैन पीडी वाघेला ने कहा कि डिजिटल तकनीक शिक्षा, स्वास्थ्य, कृषि और ऊर्जा के साथ अन्य क्षेत्रों में डिलीवरी की सेवा को बदल रही है।  

भारत के 13 शहरों में शुरुआती स्तर पर 5 जी की सेवाएं शुरू होंगी और उसके बाद चरणबद्ध तरीके से इसे पूरे देश में शुरू किया जाएगा। दूरसंचार सचिव के राजारमन ने कहा कि भारत नेट से लेकर अंतरिक्ष कम्युनिकेशन और 5 जी से लेकर फिक्स्ड लाइन ब्रॉडबैंड सेवाएं इस क्षेत्र में नए रोजगार पैदा करेंगी। 5 जी के जरिये उन क्षेत्रों में ज्यादा नौकरियां पैदा होंगी, जहां पर अभी काफी कम हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published.