डिस्टर्ब न करने के पंजीकरण के बाद भी ग्राहकों को आ रहे हैं कॉल और एसएमएस

नई दिल्ली। देश में ज्यादातर मोबाइल फोन ग्राहकों को अवांछित फोन कॉल और एसएमएस आ रहे हैं। यह तब आ रहे हैं जब इन ग्राहकों ने डिस्टर्ब न करने के लिए पंजीकरण भी कराया है।

लोकल सर्किल के एक सर्वे में कहा गया है कि ट्राई के इस नियम के बावजूद ग्राहक परेशान हो रहे हैं। इसके सर्वे में 95 फीसदी ग्राहकों ने माना कि उनको इस तरह के फोन कॉल और एसएमएस आते हैं। सर्वे 10 मार्च से 10 मई के बीच 377 जिलों में किया गया था। इसमें 37,000 लोगों को शामिल किया गया। इसमें करीबन 64 फीसदी ग्राहक तीन या चार कॉल्स हर दिन पाते हैं।

सर्वे के मुताबिक, 95 फीसदी ग्राहकों ने कहा कि वे डू नॉट डिस्टर्ब के तहत नंबर का पंजीकरण कराए हैं फिर भी वे इस तरह के अवांछित कॉल्स से परेशान हैं। केवल 5 फीसदी ने माना कि उन्हें इस तरह के फोन या एसएमएस नहीं आते हैं। ट्राई के एक अधिकारी ने कहा कि उन्होंने ब्लॉकचैन तकनीक के जरिये इसे रोकने की कोशिश कर रहे हैं, पर चुनौतियां अभी भी बनी हुई हैं।

पिछले साल टेलीकॉम विभाग (डॉट) ने इस तरह के नियमों का उल्लंघन करने 0-10 कॉल पर एक हजार रुपये के जुर्माने का नियम लगाया था। जबकि 10-50 कॉल पर 5 हजार रुपये और 50 से ज्यादा नियमों के उल्लंघन पर 10 हजार रुपये जुर्माने का प्रावधान है। सर्वे में 51 फीसदी लोगों ने कहा कि उन्हें वित्तीय सेवा के उत्पादों की बिक्री के लिए फोन आते हैं जबकि 29 फीसदी को रियल एस्टेट से संबंधित फोन आते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published.