सहारा के चेयरमैन सुब्रत राय पर लटकी गिरफ्तारी की तलवार, फिर जा सकते हैं जेल   

मुंबई-सहारा इंडिया के चेयरमैन सुब्रत राय की मुश्किलें और बढ़ गई हैं। पटना हाई कोर्ट ने उनकी गिरफ्तारी का वारंट जारी कर दिया है। उनके खिलाफ भ्रष्टाचार के कई मामले चल रहे हैं। ऐसे ही एक मामले में शुक्रवार को पटना हाईकोर्ट में उनकी पेशी होनी थी, लेकिन वह कोर्ट नहीं पहुंचे। इससे नाराज हाई कोर्ट ने बिहार, दिल्ली और उत्तर प्रदेश के डीजीपी को सुब्रत राय को गिरफ्तार कर कोर्ट में पेश करने का आदेश दिया है।  

सहारा कंपनी ने विभिन्न योजनाओं में हजारों उपभोक्ताओं से निवेश के नाम पर पैसा जमा करवाया था। मैच्योरिटी के बाद भी पैसे नहीं लौटाए। इस मामले में 2000 से ज्यादा लोगों ने पटना हाईकोर्ट में याचिका दायर की थी। सहारा समूह के प्रमुख सुब्रत राय को धोखाधड़ी के मामले में गिरफ्तार करने के लिए गुरुवार 21 अप्रैल 2022 को लखनऊ पहुंची थी। लेकिन, मध्य प्रदेश पुलिस को खाली हाथ लौटना पड़ा था।  

मध्य प्रदेश पुलिस सहारा एवं उनकी कंपनी के आठ लोगों को गिरफ्तार करने के लिए करीब दो घंटे तक सहारा शहर में छापेमारी की। पर कोई भी अभियुक्त गिरफ्तार न किया जा सका। पुलिस ने सभी के खिलाफ नोटिस चस्पा कर लौट गई और आरोपियों को 5 मई को दतिया थाने में पेश होने के लिए कहा था।  

मध्यप्रदेश के दतिया थाने के इंस्पेक्टर रविन्द्र शर्मा के मुताबिक सहारा फाइनेंस कंपनी में करीब दो हजार से ज्यादा निवेशकों का पैसा फंसा हुआ है। अलग-अलग स्कीमों में निवेश की अवधि पूरी होने के बाद इनका रिफंड नहीं मिला। यह सब कई साल से सहारा के दफ्तरों के चक्कर काट रहे हैं। 

इन निवेशकों की तरफ से सहारा निदेशक सुब्रत राय, उनकी पत्नी स्वप्ना राय सहित बोर्ड ऑफ डायरेक्टर के 8 सदस्यों के खिलाफ केस दर्ज किया गया था। बोर्ड ऑफ डायरेक्टर के 8 लोगों पर गैर जमानती वारंट जारी हुआ था। कई साल से इस केस में कोर्ट में पेश न होने की वजह से सुब्रत राय, स्वप्नाना रॉय, अनिल कुमार पांडे, डीके श्रीवास्तव, रूमी दत्ता, करुणेश अवस्थी, राना जिया और अब्दुल दबीर के खिलाफ गैर जमानती वारंट जारी हुआ था।  

बीते 15 दिसंबर 2021 को सहारा प्रमुख सुब्रत राय समेत 44 लोगों के खिलाफ उन्नाव शहर कोतवाली में धोखाधड़ी की रिपोर्ट दर्ज कराई गई थी। साथ ही आधा दर्जन कंपनियों पर गंभीर धाराओं में रिपोर्ट दर्ज की गई थी। सुप्रीम कोर्ट के वकील की शिकायत पर शहर कोतवाली पुलिस ने रिपोर्ट दर्ज की थी। सुप्रीम कोर्ट के वकील अजय टंडन ने सहारा प्रमुख सुब्रत राय पर पर करोड़ उपभोक्ताओं से दो लाख करोड़ रुपये हड़पने का आरोप लगाया है 

Leave a Reply

Your email address will not be published.