एपल को पीछे छोड़ सऊदी अरामको दुनिया की सबसे बड़ी कंपनी बनी  

मुंबई- एपल इंक को पछाड़कर सऊदी अरामको दुनिया की सबसे वैल्यूएबल कंपनी बन गई है। इसका कारण कच्चे तेल की कीमतों में आई तेजी है। तेल की कीमतों में बढ़ोतरी से अरामको के शेयरों में तेजी आई है और महंगाई के कारण तकनीकी शेयरों में गिरावट। सऊदी अरेबियन नेशनल पेट्रोलियम एंड नेचुरल गैस कंपनी दुनिया की सबसे बड़ी ऑयल प्रड्यूसिंग कंपनी है। 

शेयरों की कीमत के आधार पर सऊदी अरामको का वैल्यूएशन 2.42 ट्रिलियन डॉलर हो गया है। वहीं एपल के शेयरों की कीमत में पिछले एक महीने में गिरावट देखी गई है। इस कारण बुधवार को इसका वैल्यूएशन 2.37 ट्रिलियन डॉलर हो गया। इस साल के पहले तीन महीनों में मजबूत कंज्यूमर डिमांड के कारण एपल ने उम्मीद से बेहतर मुनाफा कमाया है, फिर भी कंपनी के शेयरों की कीमतों में गिरावट आई है। 

इस साल की शुरुआत में एपल की मार्केट वैल्यू 3 ट्रिलियन डॉलर थी, जो अरामको से लगभग 1 ट्रिलियन डॉलर ज्यादा है। तब से एपल का शेयर 20% से ज्यादा टूटा है, जबकि अरामको 28% से ज्यादा चढ़ा है। हालांकि, एपल अमेरिकी कंपनियों में सबसे बड़ी कंपनी बनी हुई है। दूसरे नंबर पर माइक्रोसॉफ्ट कॉर्प है जिसका मार्केट कैप 1.95 ट्रिलियन डॉलर है। एक्सपर्ट्स के मुताबिक महंगाई की चिंताओं के कारण टेक शेयरों में इस साल गिरावट आई है। 

टॉवर ब्रिज एडवाइजर्स के मुख्य निवेश अधिकारी जेम्स मेयर ने कहा, ‘आप एपल की तुलना सऊदी अरामको से उनके बिजनेस या फंडामेंटल्स से नहीं कर सकते हैं, लेकिन कमोडिटी स्पेस के लिए आउटलुक में सुधार हुआ है। इस स्पेस को महंगाई और कड़क आपूर्ति का फायदा मिला है। अरामको का शुद्ध लाभ 2020 की तुलना में 2021 में 124% बढ़कर 110.0 अरब डॉलर हो गया था। 2020 में ये 49.0 अरब डॉलर था। 

ब्रेंट क्रूड ऑयल की कीमतों में तेजी के कारण एसएंडपी 500 एनर्जी सेक्टर इस साल 40% बढ़ा है। ब्रेंट क्रूड साल की शुरुआत में लगभग 78 डॉलर प्रति बैरल था, जो बढ़कर 108 डॉलर हो गया है। इस साल एसएंडपी 500 में सबसे बेहतर परफॉर्म करने वाले स्टॉक में ऑक्सिडेंटल पेट्रोलियम कॉर्प है। इसमें 100% से ज्यादा की तेजी आई है। इस साल की शुरुआत में इसकी कीमत 31 डॉलर के करीब थी जो अब 60 डॉलर के पार पहुंच गई है। 

Leave a Reply

Your email address will not be published.