रिलायंस रिटेल ने रोजाना खोले 7 नए स्टोर्स, 1.5 लाख नई नौकरियां दी  

नई दिल्ली- रिलायंस रिटेल का चमकदार प्रदर्शन लगातार जारी है। कंपनी का दावा है कि पिछले वित्तिय वर्ष में उसने रिकॉर्ड 1 लाख 50 हजार नई नौकरियां पैदा की हैं और वह भी तब जब पूरी दुनिया कोविड माहमारी के दुष्परिणामों से जूझ रही थी।  

कंपनी के वित्तिय परिणामों के मुताबिक रिलायंस रिटेल का स्टाफ 70 फीसदी बढ़ कर 3 लाख 61 हजार हो गया है। रिटेल और अन्य बिजनेस में कुल मिलाकर रिलायंस इंडस्ट्रीज ने 2 लाख 10 हजार नई नौकरियां दी हैं। कंपनी के वित्तिय परिणामों में यह बात सामने आई है। 

गौर करने वाली बात यह है कि रिलायंस रिटेल ने जो 1.5 लाख नई नौकरियां दी हैं उनमें से 1 लाख से अधिक नौकरियां छोटे व मझौले शहरों में दी गई हैं। कंपनी के बयान के मुताबिक रिलायंस रिटेल छोटे व मझौले शहरों में नई नौकरियां इसलिए दे पाया क्योंकि इन शहरों में उसके स्टोर्स का नेटवर्क तेजी से बढ़ा है। स्टोर्स के साथ इन शहरों में डिजिटल और न्यू कॉमर्स प्लेटफॉर्म्स का विस्तार भी तेजी से हुआ है।  

पिछले वित्तीय वर्ष में रिलायंस ने आशचर्यचकित करने वाली रफ्तार से नए स्टोर्स खोले हैं। कंपनी ने रोजाना करीब 7 नए स्टोर्स के हिसाब से कुल 2500 से अधिक स्टोर्स खोले। सिर्फ पिछली तिमाही में ही कंपनी ने 793 नए स्टोर्स अपने पोर्टफोलियो में जोड़े हैं।  

बताते चले कि कंपनी के स्टोर्स की कुल संख्या 15 हजार के पार पहुंच गई है। स्टोर्स और डिजिटल प्लेटफॉर्म्स पर रिलायंस रिटेल के रजिस्टर्ड ग्राहकों की संख्या 19 करोड़ 30 लाख के पार जा पहुंची है। रिलायंस इंडस्ट्रीज के चेयरमैन मुकेश अंबानी ने खुशी जाहिर करते हुए कहा कि “इस वर्ष भी रिलायंस देश के लोगों के लिए रोजगार के अवसर पैदा करने में कामयाब रही है और भारत के सबसे बड़े नियोक्ताओं में से एक बनी हुई है।  

पिछले एक साल में हमने दो लाख 10 हजार से अधिक कर्मचारियों को जोड़ा है। रिटेल और टेक्नोलॉजी बिजनेस ने नई नौकरियां पैदा करने में अहम रोल अदा किया है। नए स्टोर खोलने और नई नौकरियां देने के साथ रिलायंस रिटेल ने इस वित्तीय वर्ष में कमाई भी खूब की है।  

Leave a Reply

Your email address will not be published.