लार्सन एंड टुब्रो और माइंडट्री का एक में होगा मिलन 

मुंबई- इंजीनियरिंग फर्म लार्सन एंड टुब्रो लिमिटेड (L&T) ने अपनी पब्लिकली ट्रेडेड दो सॉफ्टवेयर फर्म माइंडट्री लिमिटेड और L&T इंफोटेक लिमिटेड (LTI) के मर्जर की घोषणा की है। 9 से 12 महीनों में ये डील पूरी होगी। नई फर्म का नाम एलटी माइंडट्री होगा।  

माइंडट्री के 100 शेयरों के बदले LTI के 73 शेयर मिलेंगे। LTI के एमडी संजय जलोना इस्तीफा भी देंगे। हालांकि इस्तीफे का फैसला निजी कारणों से लिया गया है माइंडट्री के सीईओ और एमडी देबाशीष चटर्जी नई कंपनी का कामकाज संभालेंगे। 

LTI और माइंडट्री दोनो इंजीनियरिंग फर्म L&T की सब्सिडियरी कंपनी है। L&T ने 2019 में माइंडट्री का नियंत्रण हासिल किया था। ग्रुप की कंपनी में लगभग 61% हिस्सेदारी है और मार्केट कैप करीब 65,285 करोड़ रुपए। LTI में फर्म की लगभग 74% हिस्सेदारी है। इसका मार्केट कैप 1.03 लाख करोड़ है। मर्जर के बाद कंपनी का टर्नओवर 350 करोड़ डॉलर होगा और L&T की हिस्सेदारी 68.73% होगी। 

मार्केट कैपिटलाइजेशन के हिसाब से नई फर्म टेक महिंद्रा को पछाड़कर देश की पांचवीं बड़ी आईटी सर्विस प्रोवाइडर बन जाएगी। फर्म 80,000 से ज्यादा लोगों को रोजगार देगी, जिसमें 4,000 सेल्स और सपोर्ट पर्सनल शामिल हैं। वर्तमान में, TCS सबसे ज्यादा मार्केट कैप वाली आईटी कंपनी है।  

L&T ग्रुप के चेयरमैन AM नाइक ने कहा, ‘यह विलय स्ट्रैटजिक विजन की लाइन में आईटी सर्विसेज के कारोबार को बढ़ाने के प्रतिबद्धता को दिखाता है। LTI और माइंडट्री का मर्जर ग्राहकों, निवेशकों, शेयरधारकों और कर्मचारियों सभी के लिए फायदेमेंद होगा।’ नई फर्म बड़ी डील के लिए भी बिड लगा सकेगी। 

Leave a Reply

Your email address will not be published.