देश के 40 करोड़ लोगों को आयुष्मान बीमा देगी सरकार, हो रही है तैयारी  

मुंबई- केंद्र सरकार देश के सभी नागरिक को स्वास्थ्य बीमा देने की तैयारी कर चुकी है। दुनिया की इस सबसे बड़ी स्वास्थ्य बीमा योजना का मसौदा तैयार कर लिया गया है। इसके अनुसार, साढ़े 8 करोड़ नए परिवार (40 करोड़ लोग) आयुष्मान भारत योजना में शामिल किए जाएंगे। ये लोग अभी तक किसी भी स्वास्थ्य बीमा योजना में शामिल नहीं हैं। देश में अब तक कुल 69 करोड़ लोग पहले ही आयुष्मान भारत योजना में शामिल हैं। 

NHA के एक अफसर ने बताया कि नई योजना के तहत पीएम-जय से पंजीकृत सभी अस्पतालों में मुफ्त इलाज हो सकेगा। मरीजों को पोर्टेबिलिटी सुविधा भी मिलेगी। यानी, किसी भी राज्य का व्यक्ति अन्य राज्य में जाकर भी इलाज करा सकेगा। आयुष्मान भारत योजना का लाभ उठाने के लिए अब आय सीमा की शर्त नहीं रहेगी। 

नई स्कीम शुरू होते ही देश में कुल करीब 109 करोड़ लोग आयुष्मान भारत योजना में शामिल होंगे। इनके अलावा 26 करोड़ लोग पहले से ही अलग-अलग स्वास्थ्य बीमा योजनाओं के तहत कवर हैं। इस तरह भारत 135 करोड़ लोगों को स्वास्थ्य बीमा देने वाला दुनिया का इकलौता देश बन जाएगा।  

नेशनल हेल्थ अथॉरिटी (NHA) ने नीति आयोग के सहयोग से इस योजना का रोडमैप तैयार किया है। योजना का लाभ उठाने के लिए हर व्यक्ति को 250 रु. से 300 रु. तक का सालाना प्रीमियम देना होगा। सरकार का मानना है कि एक परिवार में औसतन 5 सदस्य हैं। इस हिसाब से एक परिवार का सालाना प्रीमियम 1200 से 1500 रुपए तक होगा। इसमें हर व्यक्ति को 5 लाख रु. तक का मुफ्त इलाज मिलेगा। 

अभी किसी भी निजी बीमा कंपनी से मिलने वाले 5 लाख रु. तक के हेल्थ इंश्योरेंस का सालाना प्रीमियम 7 से 15 हजार रु. तक होता है। इस लिहाज से नई योजना दुनिया की सबसे सस्ती योजना भी होगी। इसमें प्राइवेट वार्ड में इलाज कराने की भी सुविधा शामिल होगी, जो मौजूदा आयुष्मान भारत योजना में नहीं है।  

वर्तमान आयुष्मान भारत योजना के लिए सरकार प्रति परिवार की ओर से करीब 1,052 रुपए का सालाना प्रीमियम देती है। देश की करीब 70% आबादी किसी न किसी तरह की हेल्थ इंश्योरेंस से कवर है। बची हुई 30% आबादी को नई आयुष्मान योजना में शामिल करने की तैयारी है। इसमें कृषि कार्य से जुड़े लोग, निजी काम करने वाले, दैनिक वेतनभोगी, सेल्फ हेल्फ ग्रुप, ओला-ऊबर जैसी कैब कंपनियों के कर्मी, जोमैटो, ई-कॉमर्स, ट्रक ड्राइवर एसोसिएशन, फूड बिजनेस ऑपरेटर आदि सभी तरह की कंपनियों में काम करने वाले जुड़ सकेंगे।  

Leave a Reply

Your email address will not be published.