आईसीआईसीआई प्रूडेंशियल की इस स्कीम ने एक साल में दिया 43 फीसदी का रिटर्न 

मुंबई: रूस-यूक्रेन युद्ध की वजह से भारतीय शेयर बाजार भी प्रभावित है। तब भी ईसीआईसीआई प्रूडेंशियल इंडिया अपोर्च्युनटीज फंड ने पिछले एक साल में निवेशकों को 42.5 फीसदी का रिटर्न दिया है। यह एक स्पेशल सिचुएशन फंड है जो अपने बेंचमार्क की तुलना में अच्छा फायदा दे रहा है। जनवरी 2019 में लॉन्च किया गया यह फंड इस समय बेहतरीन फंडों की कैटेगरी में है।

आंकड़े बताते हैं कि इस फंड ने ज्यादातर निवेश डाइवर्सिफाइड इक्विटी की कैटेगरी में किया है। यह फैसला बेहतर साबित हुआ है। चाहे वह लार्ज कैप, हो, लार्ज मिड कैप हो या फिर फ्लैक्सीकैप हों, हर कैटेगरी में इसने अच्छा रिटर्न दिया है। इस फंड में अगर किसी ने इसकी लांचिंग यानी 2019 में 10 रुपये का निवेश किया होगा तो वह यह समय 18.46 रुपये हो गया है। दो सालों का इसका सीएजीआर की दर से रिटर्न 51.15 फीसदी रहा है।  आंकड़ों के मुताबिक, अगर फंड हाउसों के बेस्ट लार्ज कैप, बेस्ट लार्ज और मिड कैप और बेस्ट मल्टीकैप तथा फ्लैक्सीकैप की तुलना करें तो इसने सबसे ज्यादा रिटर्न दिया है। चाहे बात एक साल की हो या दो सालों की, इसका बेहतर प्रदर्शन रहा है।जैसा कि नाम से ही पता चलता है, यह स्पेशल सिचुएशन वाला फंड है। यानी कंपनियां जब अस्थाई रूप से तमाम संकट से गुजरती हैं तो उस समय यह फंड अपना काम करता है। उस समय यह आपदा में अवसर तलाशता है। यह उन कंपनियों की पहचान करता है जो किसी विशेष स्थितियों में होती हैं।  

हालांकि यह फंड तब भी अवसर तलाशता है जब कोई सेक्टर, ग्लोबल घटनाओं, इकोनॉमी या सरकार या रेगुलेटरी की वजह से कभी भी विशेष परिस्थितियों में यह फायदा उठाता है। आईसीआईसीआई प्रूडेंशियल फंड उन कंपनियों में निवेश करता है जो मूलभूत रूप से मजबूत होती हैं और अस्थाई तौर पर किसी दिक्कतों का सामना करती हैं।

आईसीआईसीआई प्रूडेंशियल के मुख्य निवेश अधिकारी एस. नरेन इसका प्रबंधन करते हैं। वे कहते हैं कि लंबे समय में स्पेशल सिचुएशन एक अच्छा रिटर्न निवेशकों को देता है। हालांकि, निकट समय में इसके प्रदर्शन में उतार-चढ़ाव दिख सकता है। कोरोना की महामारी ने ऐसे तमाम अवसर लाए जिसमें इस तरह के फंड को निवेश करने का अवसर मिला।

इस फंड के पोर्टफोलियो में ऊर्जा, दूरसंचार, फार्मा, तेल और गैस और ऑटो जैसे सेक्टर हैं। इस क्षेत्र की कंपनियों ने पिछले एक साल में अच्छा प्रदर्शन किया। 31 मार्च 2022 तक फंड के शीर्ष 5 सेक्टर में बैंक, कैपिटल मार्केट, फाइनेंस, इंश्योरेंस, फार्मा, हेल्थकेयर और ऑटो रहे। फंड का निवेश कुल 44 शेयरों में है जिनमें से 75 फीसदी निवेश लार्ज कैप स्टॉक में है। 12.7 फीसदी मिडकैप में और 12.3 फीसदी स्माल कैप में है। 

Leave a Reply

Your email address will not be published.