पी-नोट्स का निवेश घटकर 87,979 करोड़, इक्विटी में 79,747 करोड़ का निवेश 

मुंबई। भारतीय पूंजी बाजार में पार्टिसिपेटरी नोट्स (पी-नोट्स) के जरिये मार्च में निवेश घटकर 87,979 करोड़ रुपये पर आ गया है। ऐसा इसलिए क्योंकि विदेशी निवेशक लगातार सावधानी बरत रहे हैं। सेबी में पंजीकृत एकपोर्टफोलियो मैनेजर ने कहा कि आगे भी हमें इसी तरह का रुझान दिख सकता है।  

सेबी के मुताबिक, भारतीय बाजार में इक्विटी, डेट और हाइब्रिड सिक्योरिटीज में पी-नोट्स के निवेश का वैल्यू 87,979 करोड़ रुपये मार्च के अंत तक रहा।फरवरी में यह 89,143 करोड़ रुपये था। मार्च तक कुल निवेश में से इक्विटी काहिस्सा 78,233 करोड़ रुपये था जबकि डेट का हिस्सा 9,593 करोड़ और हाइब्रिड में के वल 153 करोड़ रुपये था।

आंकड़ों के मुताबिक, फरवरी में इक्विटी में पी-नोट्स का निवेश 79,747 करोड़रुपये था जबकि डेट में 9,224 करोड़ रुपये था। हालांकि विदेशी निवेशकों केभारतीय बाजार से निकले के बावजूद मार्च में इक्विटी म्यूचुअल फंड का असेटअंडर मैनेजमेंट 20 लाख करोड़ रुपये से ज्यादा रहा। पी-नोट्स के ठीक विपरीतविदेशी निवेशकों के कुल निवेश का वैल्यू मार्च के अंत में 50.97 लाख करोड़रुपये रहा जो कि फरवरी में 49.75 लाख करोड़ रुपये था। हालांकि विदेशीनिवेशकों ने भारतीय शेयर बाजार से मार्च में 41,000 करोड़ रुपये का निकासीकी थी। यह लगातार छठां महीना था, जिसमें इन्होंने निकासी की है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.