एयर इंडिया के कर्मचारियों की सैलरी कटौती बंद, अब मिलेगी पूरी सैलरी  

मुंबई- एयर इंडिया के कर्मचारियों को कोरोना के पहले वाला वेतन मिलेगा। कंपनी ने वेतन में कटौती को वापस लेने का फैसला किया है। इसे कई चरणों में किया जाएगा। यह फैसला एक अप्रैल, 2022 से लागू होगा।  

कंपनी ने एक बयान में कहा कि  कोरोना के बाद का समय हमारे लिए अभी ठीक है और विमानन क्षेत्र फिर से पूरी तरह खुल गया है। हमारे प्रदर्शन में बदलाव दिख रहा है। इसलिए जिन भी कर्मचारियों का वेतन काटा गया था, उनकी समीक्षा की गई है और उसे वापस बहाल करने का फैसला लिया गया है। इसी के साथ यह भी कहा है कि पायलट और केबिन क्रू के लिए जो भी भत्ता है, वह समान रहेगा, उसमें कोई बदलाव नहीं होगा। 

एयर इंडिया ने पायलटों के फ्लाइंग भत्ते में महामारी के पहले की तुलना में 35 फीसदी की कटौती की थी। अब इसे घटाकर 15 फीसदी कर दिया गया है। इसके साथ ही अन्य भत्तों में भी जो कटौती की गई थी, उसमें कमी की गई है। एयर इंडिया पायलट एसोसिएशन ने कुछ दिनों पहले ही टाटा संस के चेयरमैन एन चंद्रशेखरन को पत्र लिखकर वेतन कटौती को वापस लेने की मांग की थी। चंद्रशेखरन को 14 मार्च को एयर इंडिया का चेयरमैन नियुक्त किया गया था।  

एयर इंडिया के चेयरमैन एन चंद्रशेखरन ने शुक्रवार को शीर्ष प्रबंधन में भारी बदलाव किया। टाटा संस के वरिष्ठ उपाध्यक्ष निपुण अग्रवाल को एयर इंडिया का मुख्य व्यावसायिक अधिकारी और सुरेश दत्त त्रिपाठी को मुख्य मानव संसाधन अधिकारी बनाया गया है। त्रिपाठी टाटा स्टील में थे। टीसीएस के सत्या रामास्वामी को मुख्य डिजिटल अधिकारी बनाया गया है जबकि डोगरा को ग्राउंड हैंडलिंग का प्रमुख बनाया गया है। चंद्रशेखरन टाटा संस के भी चेयरमैन हैं। हालांकि अभी भी टाटा समूह एयर इंडिया के मुख्य कार्यकारी अधिकारी की नियुक्त नहीं कर पाया है। 

उधर, एलायंस एयर 15 अप्रैल 2022 से एयर इंडिया का हिस्सा नहीं रहेगा और भारत सरकार के तहत एक स्वतंत्र व्यावसायिक इकाई के रूप में चलाया जाएगा। कंपनी के सीईओ विनीत सूद की तरफ से जारी पत्र में यह जानकारी दी गई है। इसके साथ ही कहा गया है कि कंपनी अब एलायंस एयर के बैनर तले ही टिकट बेचेगी।  27 जनवरी को एयर इंडिया टाटा के पास चली गई थी और अभी तक अलायंस एयर एआई कोड के जरिये ही टिकट बेच रही थी। टाटा समूह और सरकार के बीच जो सौदा हुआ था, उसमें अलायंस एयर शामिल नहीं था।  

Leave a Reply

Your email address will not be published.