ईडी ने शाओमी के भारत के पूर्व प्रमुख को भेजा नोटिस, कहा पेश हों 

मुंबई- प्रवर्तन निदेशालय (ED) ने चाइनीज कंपनी शाओमी कॉरपोरेशन (Xiaomi) के पूर्व इंडिया हेड को जांच के लिए बुलाया है। ED यह जानना चाहता है कि क्या कंपनी की बिजनेस प्रैक्टिस भारतीय विदेशी मुद्रा कानूनों के अनुरूप है या नहीं?  

ED कम से कम इस साल फरवरी से कंपनी के खिलाफ जांच कर रहा है। सूत्रों ने बताया कि हाल ही में ED के अधिकारियों ने शाओमी के पूर्व इंडिया मैनेजिंग डायरेक्टर मनु कुमार जैन को बुलाया था। जैन को बुलाने की वजह अभी साफ नहीं हो पाई है। जैन अभी शाओमी के ग्लोबल वाइस प्रेसिडेंट हैं और उसके दुबई ऑफिस में तैनात हैं। 

जांच के बारे में पूछे जाने पर शाओमी के एक प्रवक्ता ने बताया कि कंपनी सभी भारतीय कानूनों और रेगुलेशन का पूरी तरह से पालन करती है। बयान में कहा गया है, “हम जांच में अधिकारियों के साथ सहयोग कर रहे हैं ताकि यह सुनिश्चित हो सके कि उन्हें जांच के लिए सभी जरूरी जानकारी मिल सके।” 

ED के इस एक्शन से संकेत मिलता है कि वह शाओमी के खिलाफ व्यापक जांच कर रहा है। ED ने पिछले साल दिसंबर में शाओमी के ऑफिसों में कथित टैक्स चोरी को लेकर एक अलग जांच में छापा मारा था। उस समय कुछ अन्य चीनी स्मार्टफोन कंपनियों के भी ऑफिस में छापे मारे गए थे। 

ED की जांच शाओमी इंडिया, इसके कॉन्ट्रैक्ट मैन्युफैक्चरर्स और चीन में स्थित इसकी पैरेंट कंपनी के बीच मौजूदा बिजनेस स्ट्रक्चर की तलाश से जुड़ी है। एक सूत्र ने बताया कि शाओमी इंडिया से इसकी पैरेंट कंपनी को भेजे जाने वाले फंड की जांच की जा रही है। इसमें रॉयल्टी पेमेंट के लिए किया जाने वाला भुगतान भी शामिल हैं। 

एक दूसरे सूत्र ने बताया ED ने फरवरी में शाओमी के जैन को एक नोटिस भेजा था, जिसमें कंपनी से जुड़े दस्तावेजों को पेश करने को कहा गया था। इन दस्तावेजों में विदेशी फंडिंग, शेयरहोल्डिंग और फंडिंग पैटर्न, फाइनेंशियल स्टेटमेंट और कारोबार चलाने वाले प्रमुख अधिकारियों की जानकारी शामिल है। 

Leave a Reply

Your email address will not be published.